Sun. May 19th, 2024
    भारत और चीन सम्बन्ध

    चीन के मुताबिक भारत और चीन एक दूसरे के दुश्मन नहीं है। उन्होंने कहा हाल ही में ब्रिक्स के दौरान दोनों देशों के बीच अच्छे सम्बन्ध बने थे और हमें इन्हे बिगड़ना नहीं चाहिए।

    चीन के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी किये एक बयान में कहा गया कि भारत और चीन को यह सुनिश्चित करना होगा, कि दोनों देशों के रिश्ते मजबूत रहे और पहले की घटनाओं से प्रभावित ना हों।

    चीन ने भारतीय सेना प्रमुख बिपिन रावत के बयान पर भी जवाब देते हुए कहा है कि भारतीय सेना प्रमुख को चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बयान को याद रखना चाहिए जिसमे उन्होंने कहा था कि भारत और चीन एक दूसरे के सहयोगी हैं ना कि दुश्मन।

    चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने कहा, ‘पिछले कुछ महीनों से भारत और चीन के संबंधों को बहुत बुरा-भला कहा जा रहा है। दोनों देशों को विकास के लिए एक दूसरे के साथ चलना होगा और यह सुनिश्चित करना होगा कि द्विपक्षीय सम्बन्ध बने रहें।’

    चीन की यह प्रतिक्रिया जनरल बिपिन रावत के उस बयान के बाद आयी जिसमे उन्होंने कहा था कि भारत को चीन और पाकिस्तान के खिलाफ एक साथ युद्ध लड़ने के लिए तैयार रहना चाहिए। रावत ने कहा था कि चीन अपने पैर फैला रहा है और वरह भविष्य में भी शांति से नहीं बैठेगा।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।