दा इंडियन वायर » खेल » भारतीय मध्यक्रम में स्थान के लिए संघर्ष मुझे मज़बूत बनाता है: श्रेयस अय्यर
खेल

भारतीय मध्यक्रम में स्थान के लिए संघर्ष मुझे मज़बूत बनाता है: श्रेयस अय्यर

भारतीय क्रिकेट टीम,

वैसे तो भारतीय टीम में एक से बढ़कर एक बल्लेबाज़ हैं, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार और युजवेंद्र चहल के टीम में आ जाने से भारत की आगामी विश्वकप में गेंदबाज़ी की चिंता पर भी अंकुश लग गया है। परंतु सर्वगुण सम्पन्न नज़र आ रही यह भारतीय टीम मध्यक्रम के बल्लेबाज़ों के लिए अब भी अपनी उम्मीद भरी आंखों से नए व अनुभवी बल्लेबाज़ों की तरफ देख रही है। जहां विश्वकप 2019 को आने में अब मात्र सोलह महीने रह गए हैं, मध्यमक्रम में अपनी जगह बनाने के लिए आगे आ रहे दावेदारों के बीच प्रतियोगिता बढ़ती ही जा रही है।

तेईस वर्षीय युवा बल्लेबाज़ श्रेयस अय्यर समेत अजिंक्य रहाणे, दिनेश कार्तिक, मुरली विजय और सुरेश रैना भारतीय मधर्यक्रम में नंबर चार या पांच के स्थान के लिए आपस में सर्वश्रेष्ठ साबित होने के लिए पूरी जान से प्रयास कर रहे हैं। परन्तु श्रेयस अय्यर इस बारे में ज़्यादा तनाव न लेते हुए कहते हैं “मेरे लिए किसी भी बैटिंग स्थान के लिए कंपीटिशन हमेशा से ही एक खतरे से ज़्यादा एक मौके की तरह है। मुझे सिर्फ अपने खेल से मतलब है ना कि अपने प्रतिद्वंद्वी के।”

अय्यर ने पीटीआई को बताया, “मुझे अपने हुक और पुल्ल पर काम करने की आवश्यकता है, साथ ही गेंदबाज़ी में भी हाथ आज़माने की इच्छा है। अगर दो चार ओवर फेंक सका तो टीम के ज़्यादा काम आ पाऊंगा।” श्रेयस अय्यर आईपीएल 2018 में दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से खेलेंगे और उनके साथ रिकी पोंटिंग बतौर कोच मौजूद होंगे।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!