सोमवार, अक्टूबर 14, 2019

भारतीय टीम में वापसी को लेकर आस्वस्त है सुरेश रैना

Must Read

पाकिस्तान उच्चायोग हवाला से कश्मीर में आतंकवाद को कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (लीड-1)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद...

बिहार, महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक में जेएमबी सक्रिय : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) भारत के...

एनएसए का पाकिस्तान को संदेश : युद्ध कभी फायदेमंद नहीं होता

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि कोई...

भारत के दिग्गज बल्लेबाज़ सुरेश रैना का कहना है कि चाहें आज ना सही लेकिन कल, चलो माना कल ना सही मगर परसों, परसों भी ना सही लेकिन लेकिन 10 महीने बाद ही सही मगर खिलाना तो पड़ेगा चयनकर्ताओं को मुझे। वह कहते है ना “बिना कुछ करें जय जयकार नहीं होती और कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती”, और कुछ ऐसा ही मानना है भारत के मध्यक्रम के स्टार बल्लेबाज़ सुरेश रैना का। रैना का कहना है कि “माना कुछ समय से मेरा बल्ला और किस्मत मेरा साथ नहीं दे रही है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि मैं हार मान जाऊंगा”, और वह कहते है ना “किस्मत के भरोसे रहने वालों को केवल उतना ही प्राप्त हो पाता है जितना मेहनत करने वाले छोड़ देते है”।

आपको बता दें कि हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में अपनी ताबड़तोड़ बल्लेबाज़ी के लिए जाने जाने वाले सुरेश रैना ने कहा कि “भारतीय टीम में जगह बनाने के लिए और भारत की ओर से खेलने के लिए आपको अपना प्रदर्शन बहुत ही उच्च स्तरीय रखना होता है क्यूंकि यदि 11 लोग पूरे देश में से चुने गए हैं भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए, तो उनमे वैसी कोई बात भी होनी चाहिए जो उन्हें सबसे अलग बनाए”। दरसअल, काफी समय से भारतीय टीम से बाहर चल रहे सुरेश रैना ने कहा कि “मुझे अपनी वापसी का जुनून युवराज सिंह और आशीष नेहरा को देखकर मिला है, अगर आप किसी भी स्टेज पर अच्छा करते हैं तो चयनकर्ता आपको ज्यादा दिनों तक नज़र अंदाज नहीं कर सकते हैं”।

इस साल सुरेश रैना ने घरेलू क्रिकेट में काफी अच्छा प्रदर्शन किया हैं जिससे उम्मीद जताई जा रही हैं कि उन्हें श्रीलंका और भारत के बीच होने वाली टी-20 श्रृंखला में जगह मिल सकती हैं। परन्तु प्रश्न यह हैं कि अगर सुरेश रैना टीम में आते हैं तो बाहर कौन जएगा। जिस प्रकार हार्दिक पंड्या, मनीष पांडे और केदार जाधव ने खेल दिखाया हैं उससे लगता नहीं है कि चयनकर्ता उन्हें बाहर करने की सोचेंगे।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

पाकिस्तान उच्चायोग हवाला से कश्मीर में आतंकवाद को कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (लीड-1)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद...

बिहार, महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक में जेएमबी सक्रिय : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) भारत के विभिन्न राज्यों जैसे बिहार, महाराष्ट्र,...

एनएसए का पाकिस्तान को संदेश : युद्ध कभी फायदेमंद नहीं होता

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ने पाकिस्तान को कड़ा संदेश देते हुए कहा कि कोई भी युद्ध की मार सहन...

जम्मू एवं कश्मीर में आतंक को पाकिस्तान से आर्थिक मदद : एनआईए

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस)। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान द्वारा सीधे आर्थिक...

जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान कर रहा आर्थिक मदद : एनआईए (संशोधित)

नई दिल्ली, 14 अक्टूबर (आईएएनएस) राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद को पाकिस्तान द्वारा सीधे आर्थिक...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -