Tue. Apr 16th, 2024
    मोदी-शी-चिनपिंग

    भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अभी चीन में ब्रिक्स सम्मलेन में हिस्सा ले रहे हैं। अपने स्वागत भाषण के दौरान मोदी ने चीनी राष्ट्रपति शी चिनपिंग को उनके स्वागत के लिए धन्यवाद दिया। इसके बाद मोदी ने आतंकवाद का मुद्दा उठाते हुए कहा कि शांति के लिए सबकी भागीदारी की जरूरत है।

    आपको बता दें चीन में आज से ब्रिक्स सम्मलेन की शुरुआत हुई है। इसमें भारत और चीन के अलावा रूस, ब्रासिल और दक्षिण अफ्रीका ने भी हिस्सा लिया है। सुबह राष्ट्रपति चिनपिंग ने सभी नेताओं का स्वागत कर इस कार्यक्रम की शुरुआत की। इसके बाद पांचो नेताओं की सामूहिक तस्वीर खींची गयी।

    चिनपिंग ने अपने स्वागत भाषण में विकास की बात करते हुए कहा कि ब्रिक्स सम्मलेन का मूल उद्देश्य आर्थिक विकास है। उन्होंने कहा कि किसी भी बड़ी योजना को सफल बनाने के लिए सबकी भागीदारी आवश्यक है। इसके बाद सभी देशों के नेताओं ने अपने अपने विचार रखे। मोदी ने अपने भाषण में सोर ऊर्जा के बारे में चर्चा करते हुए, सभी देशों को इसमें अपनी भागीदारी देने की बात कही।

    इसके बाद मोदी ने आतंकवाद के बारे में बोलते हुए कहा कि इससे लड़ाई में सबकी भागीदारी होनी चाहिए। मोदी के अनुसार आतंकवाद एक वैश्विक समस्या है। जाहिर है इस कथन के जरिये मोदी पाकिस्तान की और इशारा कर रहे थे और चीन को उसका साथ देने पर चेतावनी भी दे रहे थे।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।