Tue. Jul 23rd, 2024
    इंडोनेशिया विमान कंपनिया

    इंडोनेशिया के बाली द्वीप के पास अगुंग पर्वत पर जारी ज्वालामुखी विस्फोट ने विकराल रूप ले रखा है। किसी भी अनहोनी के चलते विमान कंपनियों ने बाली के लिए उड़ानों को रद्द कर दिया।

    वहीं सोमवार के बाद अब मंगलवार को भी बाली के एयरपोर्ट बंद रहेंगे। जिससे सैकड़ों उड़ाने प्रभावित होगी। हजारों की संख्या में बाली घूमने आए पर्यटक एयरपोर्ट पर फंसे हुए है।

    ज्वालामुखी राख की वजह से बाली के हवाई अड्डे को बंद कर दिया गया है। इस वजह से एयरलाइनों को हर दिन लाखों डॉलर के राजस्व की हानि हो रही है। विमान कंपनियों अब नुकसान की लागत को कम करने के लिए वैकल्पिक प्रबंध करने की तैयारी में है।

    विमान कंपनिया नुकसान की भरपाई के मद्देनजर अब यात्रियों को बाली की जगह दूसरे एयरपोर्ट पर उतारेगी। वहां से बाली के लिए वैकल्पिक परिवहनों की मदद से पहुंचाया जा सकेगा। ऐसा करने से कंपनी को होने वाले राजस्व का नुकसान भी कम हो जाएगा।

    विमान कंपनिया दे रही है आकर्षक ऑफर

    बाली में ज्वालामुखी से निकली राख की वजह से विमान को खतरा पहुंचने का सबसे ज्यादा खतरा है। बाली में यात्रियों की बुकिंग काफी कम हो रही है। ज्यादातर एयरलाइंस अब कम से कम 4 दिसंबर तक बाली तक पहुंचने के लिए यात्रियों को सुविधा देने के विकल्पों की पेशकश कर रही है।

    कई जानकारों का मानना है कि अगर बाली में राख की स्थिति 2-3 महीने तक रहेगी तो एयरलाइंस आगामी मार्च से शुरू होने वाली बाली उड़ानो को कम कर सकती है। ऑस्ट्रेलिया की जेटस्टार अपने नागरिकों को बाली की जगह अन्य स्थानों पर जाने के लिए आकर्षक ऑफर दे रही है।

    वहीं बाली एयरपोर्ट पर जाने वाले यात्रियों को अन्य स्थानों पर एयरलाइंस द्वारा उतारा जाएगा। अन्य स्थानों से बाली के लिए बस या अन्य परिवहन साधनों से यात्रियों को पहुंचाया जा सकेगा।

    गौरतलब है कि इंडोनेशिया का बाली द्वीप पर्यटकों की सबसे आकर्षक जगह मानी जाती है। लेकिन ज्वालामुखी की वजह से पर्यटकों की संख्या काफी कम हो गई है।

    राख की वजह से एयरलाइंस को काफी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इसलिए अब वो वैकल्पिक रास्तों पर विचार कर रही है ताकि नुकसान की लागत को कम किया जा सके।