दा इंडियन वायर » खेल » प्रदूषण भी खेल का मापक होना चाहिए : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन
खेल

प्रदूषण भी खेल का मापक होना चाहिए : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन टीम ने भारत और श्रीलंका के बीच टेस्ट श्रृंखला के समाप्त होने के बाद भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को एक पत्र लिखा है, जिसमे उन्होंने मैच के आरम्भ होने से पहले मापें जाने वाले मापदण्डों की सूचि में प्रदुषण को शामिल करने का सुझाव दिया है।

आपको बता दें दिल्ली के फिरोज़शाह कोटला मैदान में हुए भारत और श्रीलंका टेस्ट सीरीज के अंतिम टेस्ट मैच में खेल से ज्यादा चर्चा का विषय रहा दिल्ली का प्रदूषण, जिसनें शायद मैच के पूरे परिणाम को ही पलट के रख दिया। श्रीलंकाई खिलाडियों द्वारा कई बार हाई पॉल्यूशन लेवल की शिकायत की गई और टेस्ट मैच के दूसरे दिन खेल को 26 मिनट तक रोका गया।

दरअसल, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने भारतीय क्रिकेट बोर्ड को पत्र लिखते हुए कहा कि “वायु प्रदुषण खिलाडियों के प्रदर्शन को प्रभावित कर देता है, उस जगह जहां मिली सेकंड्स और मिली मीटर्स से आपकी कामयाबी तय होती है, वहां अधिक मात्रा में प्रदुषण का होना परफॉर्मेंस पर खासा असर डाल सकता है।” पत्र में आगे लिखा गया कि “बारिश और खराब रोशनी को उसी स्थिति में स्वीकार किया जा सकता है, जब खेलने के लिए हालात मुफीद हों, इसलिए हमारा सुझाव है कि प्रदुषण को भी मैच खेलने का मापदंड मान लिया जाना चाहिए”।

अब देखना यह होगा कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड कितना इस बात को गंभीरता से लेता है और इस विषय में उसका क्या निर्णय होता है।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!