दा इंडियन वायर » विदेश » पाक व बांग्लादेश सीमाओं की सुरक्षा के लिए बीएसएफ शामिल करेगा नए 7000 जवान
विदेश समाचार

पाक व बांग्लादेश सीमाओं की सुरक्षा के लिए बीएसएफ शामिल करेगा नए 7000 जवान

सीमा सुरक्षा बल
सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) पाकिस्तान व बांग्लादेश सीमाओं की सुरक्षा के लिए 7000 नए सैनिकों की तैनाती करेगा।

भारत में पडोसी देशों पाकिस्तानबांग्लादेश की तरफ से आए दिन घुसपैठ व तस्करी की खबरे आती रहती है। इसलिए अब सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) पाकिस्तान व बांग्लादेश सीमाओं की सुरक्षा के लिए नए सैनिकों की तैनाती करेगा। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक बीएसएफ छह नयी बटालियन बनाएगा जिसमें करीब 7,000 सैनिक शामिल होंगे।

इन बटालियन की तैनाती पाकिस्तान व बांग्लादेश के साथ लगती देश की अस्थिर सीमा पर सुरक्षा के लिए होगी। गृह मंत्रालय ने बीएसएफ को इसके लिए करीब 2090.94 करोड़ रूपए की राशि भी मंजूरी कर दी है। तस्करी और घुसपैठ रोकने के लिए भारत-बांग्लादेश सीमा पर नई बटालियन तैनात किए जाएंगे।

जानकारी के अनुसार एक साल के अंदर छह नई बटालियन में सैनिकों को शामिल कर सीमा पर भेज दिया जाएगा। गौरतलब है कि प्रत्येक बीएसएफ बटालियन में 1,000 से ज्यादा जवान और अधिकारी होते है।

गृह मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, 19 जनवरी को नई बटालियनों को बढ़ाने के लिए बीएसएफ के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी थी और बीएसएफ मुख्यालय से इन्हें संचालित करने की प्रक्रिया शीघ्र शुरू करने के लिए कहा था।

भारतीय सीमा की होगी पहरेदारी

पाकिस्तान और बांग्लादेश से लगी सीमाओं की पहरेदारी के बल के कार्य के तहत चार बटालियनों का गठन किया जाएगा। जबकि शेष दो बटालियन कार्यकारी इकाइयों की पूरक होंगी और वे पहले से तैनात जवानों की जगह लेगी।

पीटीआई ने पहले ही 14 जनवरी को इस संबंध में खबर दी थी। पीटीआई ने बताया था कि सरकार देश की दो महत्वपूर्ण बीएसएफ और आईटीबीपी की नई बटालियन के लिए योजना बना रही है।

भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) को चीन के साथ 3,488 किमी लंबी भारतीय सीमा की रक्षा के लिए काम सौंपा गया है। आईटीबीपी की नई बटालियन की मंजूरी के लिए भी गृह मंत्रालय में प्रक्रिया अंतिम चरणों में है। सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) की बात करे तो जिसे नेपाल और भूटान के साथ भारतीय सीमाओं की रक्षा करने का काम सौंपा गया है।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!