Sat. Nov 26th, 2022
    पाकिस्तांनी प्रधानमंत्री

    भारत का सबसे ख़राब पडोसी मुल्क पाकिस्तान ने जंग न करने की बात कही है। जी हां पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी ने बातचीत से सभी समाधान निकालने की बात कहते हुए ये बड़ा बयान दिया है कि भारत से लड़ाई करना कोई अच्छा विकल्प नहीं है।

    आपको बता दे कि पाकिस्तान भारत से हुए 1947, 1965, 1971 तथा 1999 के चारो लड़ाइयों में बुरी तरह से हार का सामना कर चूका है। उसके बावजूद भी अपने नापाक इरादों से जंग को भड़काने वाली हरकते करता रहता है। लेकिन इस बार खुद पाकिस्तान के पीएम ने जंग को न कहते हुए बातचीत का समर्थन किया है।

    उन्होने कहा है कि केवल बातचीत से ही बड़ा परिवर्तन लाया जा सकता है। हालांकि वो कश्मीर राग गाना नहीं भूले। अपने बयान में उन्होंने कहा है कि कश्मीर भारत पाकिस्तान दोनों के लिए एक अहम् मुद्दा है। ऐसे में जबतक इस मुद्दे का समाधान नहीं हो जाता बातचीत में तनाव बना रहेगा। बता दे कि भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद भी पाकिस्तान से रिश्ते सुधारने की लिए वहां का दौरा कर चुके है।

    इससे पहले 6 अक्टूबर को दिए अपने बयान में पाकिस्तानी सेना ने कहा था कि ”भारत उनके देश के लिए ‘सतत खतरा’ जैसा है तथा पूर्वी सीमा को भारत ने असुरक्षित बना दिया है”। पाकिस्तानी सेना की इस बयान के बाद दोनों देशो की बिच बातचीत का रास्ता बंद हो जाएगा ऐसे कयास लगाए जाने लगे थे।

    लेकिन पाकिस्तान के पीएम के इस बयान से लगता है कि पाकिस्तान आपसी बातचीत से कोई रास्ता निकालने को सहमत है। अगर ऐसा होता है तो बातचीत का ये समाधान भारत-पाकिस्तान दोनों देशो के लिए खुशियों की एक बड़ी सौगात लेकर आएगा।