गुरूवार, फ़रवरी 27, 2020

पाक-अफगान सीमा के पास संदिग्ध ड्रोन हमलों में हक्कानी नेटवर्क का कमांडर ढ़ेर

Must Read

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक...

पाकिस्तानअफगानिस्तान सीमा के पास एक संदिग्ध अमेरिकी ड्रोन हमले में तालिबान सम्बद्ध हक्कानी नेटवर्क का उग्रवादी कमांडर मारा गया। साथ ही इसके सहयोगी के भी मारे जाने की सूचना है। पाकिस्तानी अधिकारी व हक्कानी नेटवर्क के दो सदस्यों ने इसकी पुष्टि की है।

जब से डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका के राष्ट्रपति बने है तब से ही यहां पर कई बार अमेरिकी ड्रोन हमले हो चुके है। पाक अधिकारियों के अनुसार अमेरिकी ड्रोन से अफगानिस्तान से पाकिस्तान की कुर्रम वादी को अलग करने वाले पर्वतीय सीमा क्षेत्र में कई बार हमले किए जा चुके है।

जानकारी के अनुसार मंगलवार दोपहर को जमीउद्दीन नामक एक आतंकवादी कमांडर के वाहन पर संदिग्ध अमेरिकी ड्रोन हमला हुआ था जिसमें उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इस क्षेत्र में स्थित पाकिस्तानी अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बोलते हुए कहा कि अमेरिकी ड्रोन हमले में कमांडर का सहयोगी भी मारा गया है।

हक्कानी नेटवर्क के एक वरिष्ठ सदस्य के मुताबिक मारा गया कमांडर जमीउद्दीन हमारा विश्वसनीय था। जमीउद्दीन हक्कानी संगठन का हिस्सा था और अफगानिस्तान में चल रहे आंदोलन के दौरान हमारे लड़ाकों को सुविधा प्रदान करता था।

ट्रम्प प्रशासन कर रहा लगातार ड्रोन हमले

उन्होंने कहा कि जमीउद्दीन अपनी कार से पाकिस्तान के कुर्राम क्षेत्र में यात्रा कर रहे थे तभी ड्रोन के दो मिसाइलों ने उसे मार दिया। हालांकि हक्कानी नेटवर्क के वरिष्ठ सदस्य ने उसके किसी भी सहयोगी के मारे जाने से इंकार किया है।

इस क्षेत्र के एक निवासी ने भी बताया कि मैंने देखा कि दो मिसाइलें वाहन पर आ गिरी और अंदर सवार लोग मर गए।

गौरतलब है कि अफगानिस्तान में हक्कानी नेटवर्क के खिलाफ अमेरिका कार्यवाही कर रहा है। अफगानिस्तान में आतंकियों को मारने के लिए वहां पर अमेरिकी सैनिक भी मौजूद है। ट्रम्प प्रशासन ने पाकिस्तान पर कठोर रूख अपनाया हुआ है।

ट्रम्प ने कहा था कि अफगानिस्तान में तालिबान और हक्कानी नेटवर्क सहित आतंकवादियों को पाकिस्तान सुरक्षित आश्रय प्रदान करता है जो अफगानिस्तान में हमले करते है।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

दिल्ली हिंसा पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल: “पुलिस स्थिति संभालने में विफल, सेना को बुलाया जाए”

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज सुबह कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के उत्तरपूर्वी हिस्से में...

आयुष्मान खुराना: “मैं एक प्रशिक्षित गायक हूं क्योंकि मैं एक ट्रेन में गाता था”

आयुष्मान खुराना (Ayushmann Khurrana) ने खुलासा किया है कि उन्होंने अपने बॉलीवुड डेब्यू के लिए सही प्रोजेक्ट लेने के लिए 5-6 फिल्मों को अस्वीकार...

जाफराबाद में एंटी-सीएए प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम किया, DMRC ने मेट्रो स्टेशन को किया बंद

केंद्र की ओर से जारी नागरिकता (संशोधन) अधिनियम (CAA) को रद्द करने की मांग करते हुए 500 से अधिक लोगों, ज्यादातर महिलाओं ने शनिवार...

‘हैदराबाद में शाहीन बाग जैसे विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी’: पुलिस आयुक्त

हैदराबाद के पुलिस आयुक्त अंजनी कुमार ने शनिवार को कहा कि शहर में "शाहीन बाग़ जैसा" विरोध प्रदर्शन की अनुमति नहीं दी जाएगी। उनका...

निर्भया मामला: आरोपी विनय नें खुद को चोट पहुंचाने की की कोशिश, इलाज के लिए माँगा समय

2012 में दिल्ली में हुए निर्भया मामले (Nirbhaya Case) में चार आरोपियों में से एक विनय नें आज जेल की दिवार से खुद को...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -