Fri. May 24th, 2024
    यूएन में अमेरिकी राजदूत निक्की हेली

    अमेरिका और पाकिस्तान के मध्य आतंकवाद के खिलाफ सख्त कार्रवाई न करने के कारण तनाव बना हुआ है। संयुक्त राष्ट्र में नियुक्त अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने कहा कि पाकिस्तान ने अभी भी आतंकियों को सुरक्षित पनाह दे रखी है, जो अमेरिकी सैनिकों की हत्या करते हैं। उन्होंने कहा कि इस मसले पर पाकिस्तान की कार्रवाई न करने तक अमेरिका एक पाई भी पाकिस्तान को नहीं देगा।

    निक्की हेली ने कहा कि अमेरिका को नुकसान पंहुचाने वाले देश को यूएस एक पाई भी नहीं देगा। उन्होंने कहा कि अपने साझेदार्देशों के साथ हमें कार्य करने की एक रणनीति तैयार करनी चाहिए, जिसके तहत हम आगे बढ़ सके। उन्होंने कहा कि हमें बिना विचार किये रूपए देने की अनुमति नहीं देनी चाहिए।

    उन्होंने पाकिस्तान का उदहारण देते हुए कहा कि अमेरिका ने करोड़ों रूपए की मदद पकिस्तान को दी और वह अभी तक आतंकियों को सुरक्षित पनाह मुहैया कर रहे हैं, जो अमेरिकी सैनिकों की हत्या करते हैं, यह सही नहीं है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की अपनी गलती सुधारने तक एक रूपए की मदद नहीं करनी चाहिए, हमें इस रकम का इस्तेमाल करना चाहिए, यह बदलाव के लिए कोई कम कीमत नहीं है।

    निक्की हेली इस अक्टूबर में यूएन के राजदूत के पद से इस्तीफा दे दिया था और इस वर्ष के अंत तक उनका कार्यकाल समाप्त हो जायेगा। डोनाल्ड ट्रम्प ने निक्की हेली की जगह राज्य विभाग की प्रमुख प्रवक्ता और फॉक्स न्यूज की पूर्व पत्रकार हीथर नौएर्ट को इस पद पर आसीन करने का ऐलान किया था।

    निक्की हेली ने कहा कि अमेरिका की मदद से पहले पाकिस्तान को आतंकियों के सुरक्षित ठिकानों को तबाह करना होगा। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता कि अमेरिका को अन्धविश्वासी होकर मदद करनी चाहिए और सद्भाव की उम्मीद रखनी चाहिए

    डोनाल्ड ट्रम्प का पाकिस्तान पर प्रहार

    बीते सितम्बर में डोनाल्ड ट्रम्प के प्रशासन ने पकिस्तान की 30 करोड़ की सैन्य सहायता पर रोक लगा दी थी। डोनाल्ड ट्रम्प ने विभाग के कदम का बचाव करते हुए कहा कि पाकिस्तान ने अमेरिका के लिए रत्ती भर भी कार्य नहीं किया है और पाकिस्तान की सरकार अल कायदा के सरंगना ओसामा बिन लादेन की मदद कर रही थी, जो रावलपिंडी में सैन्य छावनी के बगल में आनंद से जीवन व्यतीत कर रहा था।

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1064540462848098304

    https://twitter.com/realDonaldTrump/status/1064544156960387072

    अमेरिका के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर आतंकी हमले करने वाले आतंकी ओसामा पाकिस्तान में आराम से रह रहा था, पाकिस्तान में यह बात सभी को पता थी। साल 2011 में अमेरिका की स्पेशल फाॅर्स ने ओसामा बिन लादेन को मार दिया था। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने अमेरिका से मदद वसूलने के आलावा कुछ नहीं किया था। डोनाल्ड ट्रम्प के इस ट्वीट के बाद इमरान खान और डोनाल्ड ट्रम्प के बीच ट्वीटर जंग शुरू हो गयी थी

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *