Mon. May 27th, 2024
    पश्चिम बंगाल सरकार ने 'द केरल स्टोरी' पर लगाया प्रतिबंध

    पश्चिम बंगाल सरकार ने सोमवार को ‘द केरल स्टोरी’ पर प्रतिबंध लगाने का फैसला लिया है। सोमवार को ममता ने नवान्न में आयोजित प्रेस कान्फ्रेंस में ‘द केरल स्टोरी’ की प्रासंगिकता पर सवाल उठाए और कहा कि यह फैसला राज्य में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए लिया गया है। सीएम ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी ने फिल्म को फंड किया है।

    मुख्यमंत्री ने कहा, पश्चिम बंगाल सरकार ने फिल्म ‘द केरल स्टोरी’ पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। यह नफरत और हिंसा की किसी भी घटना से बचने और राज्य में शांति बनाए रखने के लिए है।

    उन्होंने आगे कहा, “द कश्मीर फाइल्स” क्या है? यह एक वर्ग को अपमानित करने के लिए है। “केरल स्टोरी” क्या है? यह एक विकृत कहानी है।”

    इससे पहले तमिलनाडु के सिनेमाघर मालिकों ने भी विवादित फिल्म ‘द केरल स्टोरी’ नहीं दिखाने का फैसला किया। रिपोर्ट्स के मुताबिक, कई ऑनलाइन टिकट बुकिंग प्लेटफॉर्म्स द्वारा विवादित फिल्म को पहले ही चेन्नई की लिस्टिंग से हटा दिया गया है। हालांकि, तमिलनाडु सरकार ने अभी तक आधिकारिक तौर पर फिल्म पर प्रतिबंध नहीं लगाया है।

    पश्चिम बंगाल सरकार के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए फिल्म के निर्माता विपुल शाह ने कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। शाह ने कहा, “अगर ऐसा किया गया है, तो हम कानूनी कार्रवाई करेंगे। कानून के प्रावधानों के तहत जो भी संभव होगा, हम लड़ेंगे।”

    पश्चिम विधानसभा में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने फिल्म पर प्रतिबंध लगाने के लिए बनर्जी की आलोचना की। उन्होंने कहा, “जहां तक ​​​​मुझे पता है, फिल्म- “द केरला स्टोरी” केरल में सरमन पर आधारित है, जो इस बात पर ध्यान केंद्रित करती है कि चरमपंथी धार्मिक मौलवियों द्वारा महिलाओं को कैसे कट्टरपंथी बनाया जाता है। यह फिल्म बताती है कि केरल में महिलाओं को कैसे परिवर्तित किया गया और उन्हें भेजा गया।

    गौरतलब है कि फिल्म ‘द केरला स्टोरी’ अप्रैल के आखिरी सप्ताह में ट्रेलर रिलीज होने के बाद से ही विवादों में घिरी हुई है। फिल्म को भारत के कई राज्यों में विरोध का सामना करना पड़ रहा है।

    वहीं, मध्य प्रदेश सरकार ने फिल्म को राज्य में टैक्स फ्री कर दिया है। पीएम  मोदी ने कर्नाटक की एक रैली में द केरल स्टोरी की सराहना करते हुए कहा था कि यह फिल्म आतंकवाद को बेनकाब करेगी।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *