Thu. Feb 9th, 2023
    उत्तर कोरिया अमेरिका संयुक्त राष्ट्र

    उत्तर कोरिया ने अमेरिका पर परमाणु ब्लैकमेल का आरोप लगाते हुए तनाव के लिए अमेरिका को जिम्मेदार ठहराया है। दरअसल उत्तर कोरिया ने शनिवार को कहा कि वो संयुक्त राष्ट्र संगठन के साथ नियमित वार्ता पर पूरी तरह से सहमति व्यक्त करता है लेकिन अमेरिका की वजह से वार्ता में परेशानी हो रही है।

    उत्तर कोरिया ने अमेरिका पर परमाणु ब्लैकमेल का आरोप लगाया है। हाल ही में संयुक्त राष्ट्र के वरिष्ठ अधिकारी जेफरी फेल्टमैन ने मंगलवार से उत्तर कोरिया के दौरे पर थे। पांच दिवसीय दौरे के बाद जेफरी शनिवार को वापस से बीजिंग पहुंचे।

    संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक साल 2010 के बाद जेफरी फेल्टमैन पहले उत्तर कोरिया का दौरा करने वाले वरिष्ठ अधिकारी है। जेफरी ने उत्तर कोरिया में विदेश मंत्री री योंग-हो व उप-विदेश मंत्री पाक मयोंग-कुक के साथ मुलाकात की थी।

    इसके बाद अब उत्तर कोरिया ने उसके परमाणु हथियारों के परीक्षण कार्यक्रम को लेकर अमेरिका पर जबरन दबाव व ब्लैकमेल का आरोप लगाया है। जानकारी के अनुसार संयुक्त राष्ट्र के साथ दुर्लभ वार्ता में तनाव के लिए भी अमेरिका की दोषी है। इस समय उत्तर कोरिया व अमेरिका के बीच में खासा तनाव बना हुआ है।

    उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण के बाद किया दौरा

    उत्तर कोरिया के मुताबिक वो संयुक्त राष्ट्र के साथ परमाणु परीक्षणों से संबंधित वार्ता के लिए नियमित रूप से तैयार है। उत्तर कोरिया मीडिया रिपोर्ट में अमेरिका को वर्तमान तनावपूर्ण स्थिति का दोषी ठहराया गया है।

    हालांकि इस रिपोर्ट में उत्तर कोरिया तानाशाह किम जोंग-उन व जेफरी फेल्टमैन की बैठक का कोई उल्लेख नहीं है। तानाशाह ने ही मिसाइल और परमाणु कार्यक्रम को बढ़ाया है।

    गौरतलब है कि संयुक्त राष्ट्र के राजनीतिक मामलों के प्रमुख जेफरी फेल्टमैन ने उत्तर कोरिया का दौरा उसके हवासोंग-15 मिसाइल परीक्षण के बाद ही तुरंत किया है। उत्तर कोरिया के एकमात्र सहयोगी देश चीन ने भी संयुक्त राष्ट्र के प्रतिबंधों को लागू करने के लिए उत्तर कोरिया पर दबाव बना रखा है।