दा इंडियन वायर » राजनीति » पद्मावती विवाद : विहिप के प्रवीण तोगड़िया ने किया फिल्म का विरोध
राजनीति

पद्मावती विवाद : विहिप के प्रवीण तोगड़िया ने किया फिल्म का विरोध

प्रवीण तोगड़िया

विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया ने संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती पर सीधे तौर पर हमला करते हुए कहा है कि केंद्र सरकार जितनी जल्दी हो सके फिल्म को बैन कर दें, वरना वह होगा जिसकी किसी ने कल्पना भी नहीं की होगी। प्रवीण ने प्रत्यक्ष रूप में कहा कि अगर फिल्म रिलीज़ हुई तो सिनेमाघरों में वो घटेगा जिसे इतिहास में हमेशा याद रखा जायेगा। आपको बता दें यह हाल तो तब है जब सुप्रीम कोर्ट द्वारा नेताओं और अधिकारियों को फिल्म के विरुद्ध में बोलने के लिए जमकर फटकार लगाई जा चुकी है।

कुछ समय पहले ही एक वकील द्वारा सुप्रीम कोर्ट में याचिका दर्ज की गई थी कि ब्रिटैन में फिल्म की रिलीज़ पर रोक लगाई जाये, लेकिन कोर्ट ने सभी विषयों पर अध्ययन करने के बाद याचिका को ख़ारिज कर दिया तथा सभी नेताओं और पद पर बैठे अधिकारियों को फिल्म के विरुद्ध दुष्प्रचार करने के लिए लताड़ भी लगाई। आपको बता दें फिल्म से जुड़े विवाद का आलम यह हो चुका है कि फिल्म को गुजरात, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान और बिहार में बैन कर दिया गया है।

दरअसल, संजय लीला भंसाली कि फिल्म को लेकर जो विवाद शुरू हुआ था, वह कम होने की बजाय बढ़ता ही जा रहा है। लगभग हर दिन किसी ना किसी छेत्र में फिल्म को लेकर विरोध प्रदर्शन होना, किसी बड़े नेता का फिल्म की रिलीज़ को आगे बढ़ाने को लेकर चुनाव आयोग को चिट्ठी लिखना, क्षत्रिय समाज के नेता द्वारा फिल्म रिलीज़ होने पर दंगे होने की चेतावनी देना, राजपूताना समुदाय के नेताओं और करणी सेना का फिल्म के दृश्यों को हटाने की मांग करना या फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली के साथ मारपीट करना और केंद्रीय मंत्री उमा भर्ती का फिल्म के निर्देशक को लेकर ट्वीट करना इस फिल्म से जुड़े गंभीर विवाद को दर्शाता है।

रानी पद्मावती राजपूताना संस्कृति का अलंकार है और भारत रानी पद्मावती का अपमान नहीं सहेगा, वह भारत का गौरव है सम्मान है इतिहास है और जिस देश में इतिहास के साथ फेर बदल किया जाता है, उस देश कि सभ्यता और संस्कृति सदा सदा के लिए नष्ट हो जाती है। इस प्रकार हो रहे विरोध पर फिल्म के निर्देशक संजय लीला भंसाली का कहना है कि “फिल्म में ऐसा कुछ भी नहीं दिखाया गया है जिससे लोगों कि भावनाओ को ठेस पहुंचे”।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!