दा इंडियन वायर » विदेश » नौवीं बार भारत पहुंचे ब्रिटैन के प्रिंस चार्ल्स
विदेश

नौवीं बार भारत पहुंचे ब्रिटैन के प्रिंस चार्ल्स

ब्रिटिश शाही दंपति भारत
प्रिंस चार्ल्स अपनी पत्नी डचेस ऑफ कॉर्नवाल कैमिला पार्कर के साथ भारत दौरे पर आए है। इस दौरे का मकसद भारत-ब्रिटेन संबंधों को मजबूत करना है।

प्रिंस चार्ल्स अपनी पत्नी डचेस ऑफ कॉर्नवाल कैमिला पार्कर के साथ दो दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचे है। ब्रिटिश शाही दंपति बुधवार को भारत के दिल्ली में पहुंचे। इनके भारत दौरे का मुख्य मकसद भारत-ब्रिटेन के संबंधों को मजबूती प्रदान करना है। प्रिंस चार्ल्स और उनकी पत्नी कैमिला दस दिनों के लिए चार देशों के दौरे पर हैं और भारत का दौरा उनका अंतिम पड़ाव है।

इससे पहले, दोनों ने सिंगापुर, मलेशिया और ब्रुनेई का दौरा किया। भारत में ब्रिटिश उच्चायोग ने ट्वीट करके कहा कि प्रिंस व उनकी पत्नी के भारत पहुंच गए है। यह प्रिंस का नौंवा भारतीय दौरा है। इसके पहले वो 1975, 1980, 1991, 1992, 2002, 2006, 2010 और 2013 में भारत आ चुके हैं।

भारत व ब्रिटेन के संबंध होंगे मजबूत

भारत दौरे के दौरान ये शाही जोड़ा भारतीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी मुलाकात कर सकता है। इस दौरान अप्रैल 2018 में ब्रिटेन में होने वाले कॉमनवैल्थ हेड्स ऑफ गवर्नमेंट मीटिंग पर भी चर्चा हो सकती है। इसके अलावा जलवायु परिवर्तन,आर्थिक सहयोग व अन्य मुद्दों पर भी बातचीत की जा सकती है। संभावना है कि आज पीएम मोदी इस शाही जोड़े से मुलाकात कर सकते है।

गौरतलब है कि भारत व ब्रिटेन के बीच में करीब 12.19 अरब डॉलर का व्यापार होता है। भारत व ब्रिटेन के बीच वर्तमान में निवेश व व्यापार होता है। भारत ब्रिटेन में तीसरा सबसे बड़ा निवेशक है।

अप्रैल 2000 से जून 2017 तक ब्रिटेन ने भारत में 24.37 बिलियन डॉलर का इक्विटी इन्वेस्टमेंट किया है। शाही दंपति का भारत में पहुंचने पर शानदार स्वागत किया गया। इनकी सुरक्षा व रहने के शानदार इंतजाम भी किए गए है।

शाही दंपति ने दिल्ली के अमर जवान ज्योति पर जाकर शहीदों को श्रद्धांजलि भी दी है। दोनों ही देश के बीच में संबंध भी ठीक बने हुए है। ऐसे में इस शाही दंपति व भारत की कोशिश रहेगी कि वो भारत-ब्रिटेन के बीच संबंध को अधिक मजबूत व बेहतर बना सके।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]