Tue. Jan 31st, 2023
    भारत नेपाल

    भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज नेपाल की यात्रा के दौरान पूर्व प्रधानमंत्री केपी ओली से मिली। नेपाल में सीपीएन-यूएमएल के अध्यक्ष व वाम गठबधंन के नेता केपी ओली नेपाल के अगले प्रधानमंत्री के तौर पर देखे जा रहे है। इनकी पार्टी ने हाल ही में हुए संसदीय चुनावों में शानदार जीत हासिल की है।

    दोनों ही नेताओं के बीच भारत और नेपाल के बीच खास रिश्तों और अन्य मसलों को लेकर विस्तार से चर्चा हुई। केपी ओली जब नेपाल के प्रधानमंत्री थे तब भारत व नेपाल के रिश्तों में तनाव देखा गया था। अब एक बार फिर से केपी ओली की सरकार बनेगी। इसलिए भारत को नेपाल के साथ संबंधों को सुधारने पर जोर देना आवश्यक है।

    विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने दो दिवसीय दौरे पर के दौरान नेपाल के शीर्ष नेताओं से उच्चस्तरीय मुलाकात की। विदेश मंत्रालय के बयान के मुताबिक नेपाल व भारत के बीच हुई मुलाकात के लिए कोई “संरचित” एजेंडा तैयार नहीं किया गया है।

    विदेश मंत्री के साथ नए विदेश सचिव विजय गोखले भी यात्रा पर गए हुए है। केपी ओली ने स्वराज के लिए रात्रिभोज आयोजित किया। जिसके बाद विदेश मंत्री ने मधेशी नेताओं के साथ मुलाकात की।

    भारत व नेपाल के बीच संबंधों में मजबूती करना आवश्यक

    स्वराज अब माओवादी प्रमुख पुष्पा कमल दहल व वर्तमान प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा के साथ दोपहर के भोजन में मुलाकात करेगी। नेपाल मे चुनाव सम्पन्न होने के बाद भारत की यह पहली नेपाल यात्रा है। भारत पडोसी देश नेपाल के साथ सभी तनावों व मतभेदों को भूलाकर संबंधो को मजबूत करना चाहता है।

    भारत का अपने सबसे प्रमुख पड़ोसी देश नेपाल के साथ संबंधों को मजबूत करना चीन की वजह से भी आवश्यक है। क्योंकि नेपाल व चीन के बीच केपी ओली सरकार के समय में काफी नजदीकियां बढ़ी थी।