Sat. Jan 28th, 2023
    उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ,गुजरात

    गुजरात में जब से नई सरकार स्थापित हुई है तब से यहाँ की राजनीति कुछ भी अच्छा नहीं हो रहा है। मंगलवार को बीजेपी ने अपने नई सरकार का शपथ ग्रहण किया। लेकिन मंत्रिपरिषद में विभाग के बटवारे को लेकर सरकार में दरार पड़ गई है। प्रदेश के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल के बीच दूरियों की खबर है।

    गुजरात सरकार में दूसरी बार पद संभाले विजय रुपाणी इस सरकार में अपनों से ही घिरते नजर आ रहे है। ख़बर है कि तीन अहम मंत्रालय नहीं मिलने से नाराज़ उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने अब तक अपना कार्यभार नहीं संभाला है। पटेल बीजेपी सरकार में दूसरी बार उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लिए है। लेकिन पटेल ने अभी तक अपना कार्यभार नहीं संभाला है। ख़बर है कि तीन अहम मंत्रालय नहीं मिलने से नाराज़ उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने अब तक अपना कार्यभार नहीं संभाला है। नितिन पटेल अपने पिछले पदभार को किसी और दिए जाने पर दुखी है। नितिन पटेल गुरुवार को हुई कैबिनेट की बैठक में देर पहुंचे थे। खबरों के अनुसार नितिन पटेल को मनाने खुद मुख्यमंत्री विजय रुपाणी गए थे। लेकिन पटेल होने वाली बैठक में देरी से पहुंचे, 5 बजे शुरू होने वाली बैठक में नितिन 9 बजे पहुंचे। सूत्रों के मुताबिक पटेल ने कहा कि अगर उन्हें वित्त मंत्रालय नहीं मिला तो वो अपने आत्मसम्मान के ठेस पहुंचने पर पार्टी से इस्तीफा दे सकते है।

    नितिन पटेल के साथ मुख्यमंत्री विजय रुपाणी की बैठक शाम 5 बजे होने वाली थी। पार्टी के सभी नेतागण समय पर बैठक में उपस्थित हो गए थे। लेकिन रुपाणी और पटेल 9 बजे पहुंचे। पार्टी के नए मंत्रियों को इन दोनों ने चार घंटे इन्तजार करवाया। नितिन को मनाने के लिए यह बैठक मुख्यमंत्री के आवास पर रखी गई थी। इस बैठक में मुखयमंत्री विजय रुपाणी, उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल और गुजरात बीजेपी अध्यक्ष जीतू वाघानी मौजूद रहे।

    इस सरकार में वित् मंत्रालय सौरभ पटेल को दिए जाने से नितिन पटेल नाराज दिख रहे है। उनका कहना है कि पिछली सरकार में यह पद मेरे पास था और इस बार भी मेरे पास होना चाहिए। बता दें कि वित्त मंत्रालय पिछली आनंदीबेन पटेल और विजय रुपाणी की सरकार में नितिन पटेल के पास था। पीडब्लूडी स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, स्वास्थ्य शिक्षा, नर्मदा, कल्पसर और पाटनगर योजना मंत्रालय दिए गए है। लेकिन अंत में पटेल को मनाकर बैठक में शामिल कर लिया गया।

    हाल ही में हुए गुजरात चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को 99 सीटे और कांग्रेस के खाते में 80 सीटें आई। बहुमत होने से बीजेपी ने गुजरात में सरकार स्थापित कर ली। कांग्रेस के 22 साल से देखते आये सपने पर बीजेपी ने फिर से पानी फेर दिया। गुजरात सरकार में मुख्यमंत्री विजय रुपानी और उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल को चुना गया।