Tue. Feb 27th, 2024

    धूमल जैसे बड़े राजनेताओं को पछाड़ जयराम हिमाचल की सत्ता पाने में कामयाब रहे। आज उन्होंने 10 मंत्रियों के साथ अपने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। समारोह में दो विधायक ऐसे भी रहे जिन्होंने अपने मंत्री पद की शपथ संस्कृत में ली।

    जयराम का यह शपथ ग्रहण समरोह इसलिए भी ख़ास है क्यूंकि यह पहली बार हुआ है कि मंडी जिले से कोई विधायक मुख्यमंत्री बना है। इससे पहले कई मुख्यमंत्री कांगड़ा, हमीरपुर और शिमला जिले से बन चुके है। अपने शपथ ग्रहण समारोह में जयराम ने सभी प्रदेश वासियों को आने का निमंत्रण दिया था।

    इस मौके पर पीएम मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और कई बड़े नेता भी मौजूद रहे। वैसे हिमाचल के इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि देश का कोई प्रधानमंत्री प्रदेश के सीएम शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हुआ है।

    ये विधायक बने मंत्री

    हिमाचल में इस बार महेंद्र सिंह ठाकुर, राजीव सैजल, सुरेश भारद्वाज, अनिल शर्मा, गोविंद ठाकुर, विपिन परमार, वींरेंद्र कवंर, सरवीन चौधरी और विक्रम सिंह ने मंत्री पद की शपथ ली। यह सभी चेहरे हिमाचल की राजनीति में अपनी एक अलग पहचान रखते है।

    इस मौके पर जयराम ने प्रदेशवासियों को यह भरोसा दिलाया है कि “उन्हें यकीन है कि उनकी सरकार प्रदेश को एक अच्छा और बेहतरीन शासन दे पाने में सफल होगी” शपथ ग्रहण समारोह के दौरान जयराम थोड़े भावुक दिखे। उन्होंने अपने पिता को याद करते हुए कहा कि “आज अगर पिता जी साथ होते तो उन्हें बहुत अच्छा लगता, माँ बीमार है लेकिन हां उनका आशीर्वाद सदैव मेरे साथ है।”

    शपथ ग्रहण समारोह में मोदी के साथ अमित शाह और हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर
    शपथ ग्रहण समारोह में मोदी के साथ अमित शाह और हिमाचल के सीएम जयराम ठाकुर

    ठाकुर की पत्नी साधना ठाकुर ने भी उन्हें बधाई देते हुए यह बयान दिया कि यह जीत सिर्फ बीजेपी पार्टी की नहीं बल्कि आम आदमी की भी है।