Tue. Dec 6th, 2022
    डोनाल्ड ट्रम्प

    अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प एक लम्बे समय से मेक्सिको की सीमा पर दीवार के निर्माण की मांग कर रहे हैं। मंगलवार को राष्ट्रपति ने कहा कि “अमेरिका-मेक्सिको सीमा को पूरी तरह बंद करने के लिए 100 फीसद तैयार है। उन्होंने मध्य अमेरिकी सरकारों और कांग्रेस को प्रवासन को रोकने के लिए सख्त कदम उठाने की चेतावनी दी है।

    सीएनएन के मुताबिक डोनाल्ड ट्रम्प ने कांग्रेस में डेमोक्रेट्स पर अवैध प्रवासियों के लिए बने अमेरिकी कानून को कठोर करने करने के लिए दबाव बनाया है। डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि “सीमा पर अभी राष्ट्रीय आपातकाल का दौर शुरू है। अगर मेक्सिको अपनी सरजमीं से प्रवासियों की नहीं रोकता है या कांग्रेस कार्रवाई नहीं करती है तो सीमा पूरी तरह बंद कर दी जाएगी, बिलकुल 100 फीसदी।”

    उन्होंने कहा कि “निश्चित ही यह हमारी अर्थव्यस्था पर नकारात्मक प्रभाव डालेगा। मेरे लिए व्यापार से कई ज्यादा जरुरी सुरक्षा है। डेमोक्रेट्स राजनीतिक कारणों से सुधार में बाधा डाल रहे थे लेकिन समस्या का समाधान 45 मिनट में नहीं कर सकते हैं।”

    होमलैंड सिक्योरिटी सेक्रेटरी किर्स्टजेन नीलसन ने कोंग्रस से कहा कि “मध्य अमेरिकी अवैध आप्रवासियों को जबरन प्रत्यर्पण करनी की पावर कांग्रेस सीमा सुरक्षा अधिकारीयों दे। इसमें अकेले आये बच्चे भी शामिल है, जिन्हे देश वापस भेजना है।”

    सीनेट में बहुमत के नेता मीच मक्कोनल ने कहा कि “बॉर्डर के बांध होने से देश की अर्थव्यवस्था पर बुरा प्रभाव पड़ेगा और मुझे उम्मीद है कि हम ऐसा कुछ नहीं करेंगे।” चैम्बर ऑफ़ कॉमर्स ने कहा कि “प्रवासी सुधार का समर्थन करते हैं लेकिन सीमा को बंद कर देने से पूरे अमेरिका में अमेरिकी परिवारों, कर्मचारियों, किसानो और उत्पादनकर्ताओं को काफी आर्थिक नुकसान उठाना होगा।”

    मेक्सिको के विदेश मंत्री ने कहा कि “हमने अमेरिकी राज्य सचिव माइक पोम्पिओ से बातचीत की थी और उन्होंने कहा है कि सीमा बंद नहीं होगी। आज तक भी अमेरिकी सचिव और उनकी टीम ने हमसे कहा कि हम इस नीति को लागू नहीं कर रहे हैं। सीमा पर कुछ बिंदुओं को बंद किया जाएगा। अमेरिकी विभागों के साथ मेक्सिको अच्छी वार्ता करना जारी रखेगा और सीमा पर सामान्य ट्रैफिक जल्द से जल्द दिखने की सम्भावना है।”

    होमलैंड सुरक्षा अधिकारीयों ने  कहा कि “कुछ प्रवेश मार्गो को बंद  करने की संभावित तैयारियां चालू है। प्रवासियों को सँभालने की सुविधाएँ अधिक शुल्क वाली और स्टाफ की कमी है,यह हालातों को अधिक बदतर बना रही है।”

    डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि “सीमा बंद होने के भय से मेक्सिको के अधिकारियों ने बीते हफ्ते प्रवासियों के कारवां पर शिकंजा कसा था। मेक्सिको ने बीते दो दिनों से काफी बड़े कदम उठाये हैं। अगर वह सीमा को बंद होते देखना नहीं चाहते तो उन्हें यह जारी रखना होगा।” साथ ही तीन राष्ट्रों को दी जाने वाली सहायता में लाखों डॉलर कम करने के अपने निर्णय का उन्होंने बचाव किया है। उन्होंने कहा कि “उन तीन राष्ट्रों ने हमारे लिए कुछ नहीं किया है।”

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *