Thu. Feb 29th, 2024
    भारत चीन अरुणाचल सीमा

    भारत और चीन के बीच सीमा विवाद बढ़ता ही जा रहा है। डोकलाम में भारत की दखल के बाद चीन अब लदाख के जरिये भारत पर दबाव बनाने की सोच रहा है। ऐसे में भारत चीन सम्बन्ध बुरी तरह से प्रभावित हुए हैं।

    कल सवेरे चीन ने लदाख के जरिये भारतीय सीमा में दाखिल होने की कोशिश की। चीनी सेना और भारतीय सेना के बीच पत्थरों से टकरार भी हुआ। इसके बाद चीनी सेना वापस लौट गयी। इस सबके बीच चीनी सेना की मानसिकता को समझने की जरूरत है। क्या भारत पर दबाव बनाना ही चीन का मक़सद है, या फिर चीन किसी हमले की तैयारी कर रहा है?

    चीन की लगातार सीमा पर की गयी गतिविधियों की भारतीय विशेषज्ञों ने मूल्याङ्कन किया है। विशेषज्ञों के मुताबिक :

    • लदाख में चीनी सेना का इस तरह पत्थरबाजी करना बड़ी हैरानी की बात है। माना जा रहा है कि चीन बिना कोई हथियार इस्तेमाल किये भारत पर दबाव बनाना चाहता है। और इसके पीछे चीन का कोई उद्देश्य हो सकता है।
    • विशेषज्ञों के मुताबिक सीमा पर सेनाओं का इस तरह आमने सामने आना कोई नई बात नहीं है। लेकिन इस तरह चीनी सेना द्वारा पत्थर फेंकना किसी पूर्व निर्धारित रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है।
    • चीन की इस कोशिश का कारन उसका डोकलाम में हारना भी बताया जा रहा है। डोकलाम में भारतीय सेना द्वारा रोका जाने पर चीन भड़क गया है और बदला लेना चाह रहा है।
    • चीन का यह कदम सीमा पर दोनों सेनाओं के बीच प्रोटोकॉल को भी तोड़ता है। इसके बाद सैनिकों के बीच टकरार बढ़ भी सकता है।
    • विशेषज्ञों के मुताबिक इस घटना का जिक्र दोनों देशों के बीच होने वाली फ्लैग मीटिंग में होना चाहिए। इससे इस बात पर ज्यादा चर्चा हो सकती है।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।