Tue. Jul 23rd, 2024
    नोटिस भेजना जारी

    देश में नोटबंदी लागू किए जाने के बाद जनता ने बड़ी मात्रा में कैश जमा कराया था। ऐसे में आयकर विभाग ऐसे एक लाख लोगों के खिलाफ नोटिस जारी करने जा रहा है जिन्होंने टैक्स रिटर्न दाखिल नहीं कराई। मीडिया खबरों के अनुसार आयकर विभाग इन लोगों के खिलाफ इसी सप्ताह से नोटिस भेजना शुरू कर देगा।

    बताया जा रहा है कि आयकर विभाग पहली किश्त में करीब 70 हजार उन लोगों को नोटिस भेजेगा जिन्होंने नोटबंदी के बाद 50 लाख से ज्यादा की नकदी जमा कराई थी। जबकि इन लोगों ने अपनी आयकर रिटर्न फाइल दाखिल कराने की सूचना हां या फिर ना तक में नहीं दी। आयकर विभाग यह नोटिस सेक्शन 142 (1) के तहत जारी करेगा।

    आयकर विभाग शेष तीस हजार ऐसे खाताधारकों के खिलाफ नोटिस जारी करेगा जिनके खाते में नोटबंदी के अचानक पैसे आए हैं।
    करीब 20,572 टैक्स रिटर्न की फाइलों को जांच के लिए आयकर विभाग ने चुना है जो नोटबंदी के बाद की हैं। धीरे—धीरे जांच के बाद अन्य खाताधारकों को भी आयकर विभाग नोटिस भेजेगा।

    गौरतलब है कि आयकर विभाग अगले महीने से उन खाताधारकों को भी नोटिस भेजना शुरू करेगा जिन लोगों ने नोटबंदी के बाद अपने अकाउंट में 25 से 50 लाख तक की धनराशि जमा की है। आपको जानकारी के लिए बतादें कि आयकर विभाग की यह कार्रवाई कालेधन के खिलाफ आॅपरेशन क्लिन मनी के तहत की जा रही है।

    आयकर विभाग के आधिकारिक आकंड़ों के मुताबिक करीब 17,73 लाख अकाउंटस संदिग्ध पाए गए हैं। जबकि 3.68 करोड़ रुपयों की ब्लैकमनी का पता लगाया जा चुका है। यह बड़ी धनराशि 23.22 लाख बैंक अकाउंटस में नोटबंदी के बाद जमा कराई गई थी।