सोमवार, अक्टूबर 14, 2019

टीडीपी ने फिर उठाया आंध्र प्रदेश के लिए विशेष पैकेज का मुद्दा

Must Read

त्रिपुरा : महिला सांसद के खिलाफ आक्रामक टिप्पणी करने वाला गिरफ्तार

अगरतला, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। त्रिपुरा के एक व्यक्ति को राज्य की पुलिस ने लोकसभा सदस्य प्रतिमा भौमिक के खिलाफ...

7 साल बाद फिर क्यों सुर्खियों में आया निर्भया गैंगरेप का केस

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर(आईएएनएस)। साल 2012 के दिसंबर में हुई निर्भया गैंगरेप की घटना ने देश को हिला कर...

शरद रंगोत्सव में कवियों ने बांधा समां

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। देश भर से यहां आए एक दर्जन से अधिक कवियों-कवित्रियों की उपस्थिति में यहां...

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू ने सोमवार को एक आपातकाल बैठक बुलाई। आंध्र प्रदेश को 2018-19 के केंद्रीय बजट में कोई विशेष छूट या फंड नही दिए जाने को लेकर यह बिठक बुलाई गई थी। 2019 लोकसभा चुनावों से पहले, यह मोदी सरकार का आखिरी संपूर्ण बजट था।

तेलगू देशम पार्टी के चौधरी ने कहा कि, “आपातकाल मीटिंग के दौरान, केंद्रीय बजट और उसमें आंध्र प्रदेश को कोई विशेष छूट या आवंटन नही दिए जाने पर चर्चा हुई। हम इस मुद्दे पर केंद्र सरकार पर लगातार दबाव बना रहे हैं। अगर आवश्यकता होती है तो हम इस बात को संसद में भी उठाऐंगे।”

संसद से बाहर निकल कर पत्रकारों से बात करते हुए टीडीपी के सांसद, टी.जी वेंकटेश ने कहा कि,” हम उनके(बीजेपी) खिलाफ जंग का ऐलान कर रहे हैं। अब हमारे पास सिर्फ तीन ही रास्ते हैं। पहला की हम कोशिश करेंगे की यह गठबंधन बरकार रहे। दूसरा की हमारे सांसद इस्तीफा दे दे। तीसरा की हम यह गठबंधन तोड़ दे।”

आंध्र-केंद्रित आयामों का बजट से नदारद रहना टीडीपी और बीजेपी के गठबंधन के लिए खतरा साबित हो रहा है। नायडू इस बात से नाराज है कि आंध्र प्रदेश को लंबे समय से बजट में कोई लाभ नही मिला, जैसा की बीजेपी केंद्रीत सरकार ने वादा किया था।

आंध्र प्रदेश इस समय आर्थिक तंगी से जूझ रहा है। उसकी यह स्थिति तब से ही है, जबसे उसका विभाजन हुआ है। गठबंधन में उठी रार का फायदा विपक्ष उठाने की कोशिश कर रहा है।

वाईएसआरसीपी के अध्यक्ष जगन मोहन रेड्डी के अनुसार,” बजट का अंतिम प्रारूप केंद्रीय कैबिनेट द्वारा मंजूर किया जाता है, जिसमें दो टीडीपी नेता शामिल है। चंद्र बाबू नायडू की चालाकी काम नही कर सकती। केंद्रीय बजट एक सामूहिक फैसला है और टीडीपी सारा आरोप केंद्र पर नही डाल सकती।”

आगामी चुनावों के मद्देनजर,चंद्र बाबू नायडू पर अपने वादे और विकास का ब्यौरा देने का दबाव बढ़ गया है। विकास और विस्तार का हवाला देकर ही टीडीपी-बीजेपी गठबंधन राज्य में आई थी।

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

त्रिपुरा : महिला सांसद के खिलाफ आक्रामक टिप्पणी करने वाला गिरफ्तार

अगरतला, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। त्रिपुरा के एक व्यक्ति को राज्य की पुलिस ने लोकसभा सदस्य प्रतिमा भौमिक के खिलाफ...

7 साल बाद फिर क्यों सुर्खियों में आया निर्भया गैंगरेप का केस

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर(आईएएनएस)। साल 2012 के दिसंबर में हुई निर्भया गैंगरेप की घटना ने देश को हिला कर रख दिया था। अब सात...

शरद रंगोत्सव में कवियों ने बांधा समां

नई दिल्ली, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। देश भर से यहां आए एक दर्जन से अधिक कवियों-कवित्रियों की उपस्थिति में यहां रविवार को नटरंग शरद रंगोत्सव...

विजय हजारे ट्रॉफी : महाराष्ट्र 3 विकेट से जीता

वडोदरा, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। अजीम काजी के शानदार 84 रनों की मदद से महाराष्ट्र ने यहां खेले गए विजय हजारे ट्रॉफी के मैच में...

चीन-नेपाल मैत्री की जड़ मजबूत

बीजिंग, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने शनिवार को काठमांडू में नेपाली राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी के साथ मुलाकात की। दोनों ने...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -