Sat. Nov 26th, 2022
    jammu and kashmir

    भारत के खुफिया विभागों ने आगाह किया कि जैश ए मोहम्मद पुलवामा जैसे आतंकी हमलों की योजना बना रहा है। आगामी दिनों में आतंकी समूहों द्वारा नए हमलों की योजना बनायीं जा रही है, खुफिया विभागों ने सुरक्षा एजेंसियों को आगाह कर दिया है।

    ख़ुफ़िया विभागों द्वारा जुटाई रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान समर्थित आतंकी समूह जैश ए मोहम्मद और हिज़ बल मुजाहिद्दीन आगामी दिनों में जम्मू कश्मीर के चैकीबाई और तंगधार मार्ग पर सुरक्षा बलों और सैन्य वाहनों को निशाना बनाकर आतंकी हमले की योजना बना रहा हैं।

    ख़ुफ़िया सूत्रों ने दावा किया कि जल्द ही एक और आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए एक हरे रंग की स्कार्पियो को तैयार किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक जेईएम पुलवामा हमले की अधिक वीडियो जारी करने की योजना बना रही है ताकि आतंकी समूह के नए लड़ाकों को प्रोत्साहित किया जा सके।

    ख़ुफ़िया विभाग के मुताबिक जेईएम ने बीते कुछ महीनों में 50 से 60 कश्मीरी युवकों को आतंकी समूह में है। हालिया ख़ुफ़िया जानकारी के मुताबिक हिज़्ब उल मुजाहिदीन लाइन ऑफ़ कण्ट्रोल से अपने आतंकियों को घुसपैठ करने के आदेश का सुझाव दिया है। हाल ही में इस आतंकी समूह को स्थानीय समर्थन बढ़ा है।

    इंटेलिजेंस की रिपोर्ट के मुताबिक भारत की सरहद पर घुसपैठ के लिए इस आतंकी समूह ने पांच-छह फियादीन को तैयार कर रखा है। वे अभी एलओसी के पास गुरेज़ सेक्टर के टेरर लांच पैड पर है और सही मौके की ताक में हैं। वरिष्ठ ख़ुफ़िया विभाग ने कहा कि “पुलवामा आतंकी हमले में इस्तेमाल विस्फोटक पदार्थ को एक स्थान से दुसरे स्थान तक पंहुचाने के लिए महिलाओं को बच्चों का इस्तेमाल किया गया था।

    पुलवामा हमले से एक दिन पूर्व ही बम तैयार किया गया था। जांच के आधार पर ख़ुफ़िया विभाग ने कहा कि “हमले मे मिलिट्री ए-5 आरडीएक्स ग्रेड केटेगरी का इस्तेमाल किया गया था। जो बेटे कुछ महीनो से बाचों और महिलाओं द्वारा छोटी मात्रा में सीमा पार से लाया जा रहा था।

    आर्मी के सूत्र ने बताया कि “आरडीएक्स बेहद अस्थायी तत्व होता है और इसको स्थायी करने के लिए मोम और साबुन का इस्तेमाल किया जाता है। यह बेहद शुद्ध होता है और इसका धमाका काफी खतरनाक होता है।” आत्मघाती हमलावर अहमद डार की ट्रेनिंग मसूद अज़हर के भाई इब्राहिम अज़हर की निगरानी में हुई थी।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *