Wed. Nov 30th, 2022
    नरेंद्र मोदी

    अभी हाल में ही विश्व बैंक द्वारा जारी की गयी रिपोर्ट के अनुसार ‘ईज ऑफ डूइंग बिजनेस’ में भारत ने 142वें स्थान से उपर उठकर 100वीं रैंकिग प्राप्त की है। ईज ऑफ डूइंग बिजनेस रैंकिंग में सुधार से उत्साहित होकर तथा गुजरात और हिमाचल विधानसभा चुनाव को देखते हुए मोदी सरकार जीएसटी में सुधार कर कारोबारियों को एक बड़ी राहत देने के मूड में दिखाई दे रही है।

    इस बारे में शनिवार को ही पीएम मोदी ने जीएसटी में जरूरी सुधार और बदलाव लाने की बात की थी। उन्होंने कहा था कि कारो​बारियों के सुझाव पर जीएसटी में गुणात्मक सुधार किए जाएंगे। यानि काउंसिंल में कारोबारियों से परामर्श लेकर ही जीएसटी में जरूरी बदलाव किए जाएंगे जिससे देश में कारोबार करना और आसान हो जाएगा।

    मोदी सरकार के कैबिनेट मिनी​स्टर्स की सिफारिशों को ध्यान में रखते हुए जीएसटी में एक बड़े बदलाव की तैयारी चल रही है। ऐसा माना जा रहा है कि इस बदलाव के साथ ही मार्केट में मिलने वाले कई सामानों के दाम बिल्कुल कम हो जाएंगे।

    आप को बता दें कि जीएसटी काउसिंल की मीटिंग 9—10 नवंबर को होनी सुनिश्चित है। ऐसा माना जा रहा है कि इस मीटिंग के बाद छोटे—मझोले कारोबारियों के साथ ही रियल स्टेट तथा होटल रेस्टोरेंट सेक्टर को काफी राहत मिलेगी।

    दैनिक जीवन में काम आने वाली कई चीजों जैसे चॉकलेट, शैम्पू, परफ्यूम, रेजर, इंस्टेंट कॉफी, कस्टर्ड पाउडर और शेविंग क्रीम जैसी कई चीजें सस्ती हो जाएंगी। काउसिंल में एसी रेस्टोरेंट में जीएसटी घटाकर 12 प्रतिशत करने का प्रस्ताव भी नीहित है।
    गौरतलब है कि रियल एस्टेट सेक्टर को भी जीएसटी सूची में शामिल किए जाने की पूरी उम्मीद है।