Thu. Dec 1st, 2022
    भारत-चीन सीमा विवाद

    डोकलाम में चल रहे भारत और चीन के बीच विवाद पर आज जापान ने भारत का पक्ष लेते हुए चीन को चेतावनी दी है। डोकलाम विवाद पर जापान ने कहा है कि डोकलाम एक विवादित इलाका है और इसका फैसला शांति से करना होगा। जापान ने चीन की और इशारा करते हुए कहा है कि जोर दिखाकर किसी भी जमीन पर कब्ज़ा नहीं करना चाहिए।

    भारत में जापान के राजदूत केंजी हीरामत्सू ने कहा, ‘डोकलाम को लेकर पिछले करीब दो महीनों से तनातनी जारी है। हमारा मानना है कि इससे पूरे क्षेत्र की स्थिरता प्रभावित हो सकता है, ऐसे में हम इस पर करीबी नजर बनाए हुए हैं।’ जापान की और से कहा गया कि डोकलाम भूटान और चीन क बीच एक विवादित छेत्र है। इस इलाके में कोई भी देश जबरदस्ती हक़ नहीं जता सकता।

    जापान ने कहा कि, ‘जहां तक भारत की भूमिका की बात है, तो हम मानते हैं कि वह भूटान के साथ अपने द्विपक्षीय समझौते के आधार पर ही इस मामले में दखल दे रहा है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने भी साफ किया है कि भारत कूटनीतिक चैनलों के जरिये बातचीत से इस विवाद के ऐसे हल की कोशिश करता रहेगा, जो दोनों पक्ष को स्वीकार्य हो। हमारा मानना है कि किसी विवाद के शांतिपूर्ण हल के लिए यह रवैया महत्वपूर्ण है।’

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।