Mon. Apr 22nd, 2024
    चीनी सीमा पर सड़कें

    चीन से चल रहे सीमा विवाद के बीच भारत ने अपनी सुरक्षा प्रणाली को मजबूत करना शुरू कर दिया है। भारत ने चीन से सटी सीमा पर सड़कें बनाने का काम तेज कर दिया है। भारतीय रक्षा मंत्रालय ने सीमा से लगती सड़कों को जल्दी पूरा करने के लिए बॉर्डर रोड आर्गेनाईजेशन को आदेश दिए हैं और इस दौरान होने वाले अतिरिक्त खर्च और सुविधाए भी मुहैया कराई है। इस प्रोजेक्ट के अनुसार बॉर्डर रोड आर्गेनाईजेशन चीन से लगती सीमा पर 61 जरूरी सड़कें बनाएगा, जिनकी कुल लम्बाई लगभग 3400 किमी होगी।

    जाहिर है डोकलाम में भारत और चीन के बीच करीबन दो महीने से झड़प जारी है। इस दौरान चीन ने लगातार युद्ध की धमकी देते हुए भारत पर दबाव बनाने की कोशिश की है। इससे परे भारत, इस विवाद को शांति से सुलझाना चाहता है। चीन के रवैये को देखते हुए अब भारत ने भी कड़ा रुख अपना लिया है। भारतीय रक्षा मंत्रालय ने युद्ध सम्बन्धी सभी तैयारियों को जल्द पूरा करने के आदेश दिए हैं। इससे पहले भारत ने अमेरिका से अपाची लड़ाकू हेलीकाप्टर भी खरीदे थे, जो जंग के मैदान में थल और वायु सेना को मदद करेंगे। इसके अलावा सीमा पर सड़क बनाने का काम भी जोरो शोरों से तेज हो गया है। अब रक्षा मंत्रालय ने इस काम को जल्द पूरा करने के आदेश दिए हैं। सीमा पर जरूरी सड़कें बनाने से जवानो को कोई भी सुविधा देने में आसानी होगी।

    इस काम के लिए बॉर्डर रोड आर्गेनाईजेशन को करीबन 100 करोड़ रूपए की अतिरिक्त राशि दी जायेगी। इस राशि के मिलने से बॉर्डर रोड आर्गेनाईजेशन कई बड़ी कन्स्ट्रक्शन कंपनियों से भी साझेदारी कर सकता है। इसके अलावा सड़क बनाने से सम्बंधित अन्य कार्यों को भी पूरा करने के लिए रक्षा मंत्रालय ने आदेश जारी कर दिए हैं।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।