Thu. Feb 9th, 2023
    अमेरिका पाकिस्तान

    पाकिस्तान में आतंकवादी गतिविधियों से घबराकर अमेरिका ने एडवायजरी जारी की है। पाकिस्तान में आतंकी हमले होने की आशंका के मद्देनजर पाकिस्तान जाने वाले व वहां रह रहे अमेरिकी नागरिकों व अधिकारियों को अमेरिका ने अलर्ट जारी किया है।

    अमेरिका ने अपने लोगों को पाकिस्तान की गैर-जरूरी यात्रा टालने की सलाह दी है। अमेरिका ने पाकिस्तान में बढ़ रही आतंकवादी गतिविधियों, हिंसा व हमलों के बाद ऐसा फैसला लिया है।

    गौरतलब है कि इससे पहले शुक्रवार को पाकिस्तान के इस्लामाबाद स्थित चीन के दूतावास ने पाकिस्तान में रह रहे चीनी नागरिकों पर आतंकवादी हमले की आशंका जताते हुए एडवायजरी जारी की थी। चीन ने भी पाक में रहने वाले चीनी नागरिकों व संबंधित संगठनों को उन पर आतंकवादी हमले किए जाने की चेतावनी दी थी।

    ठीक इसके एक दिन बाद ही शनिवार को अमेरिका ने भी अपने नागरिकों को सावधान व सतर्क रहने की चेतावनी दी है। अमेरिका ने नागरिकों से पाक की यात्रा स्थगित करने  की सलाह देते हुए कहा कि विदेशी और स्वदेशी आतंकवादी समूह पूरे देश में खतरा पैदा कर रहे है।

    यह चेतावनी दक्षिण एशियाई देश के सभी गैर-आवश्यक यात्रा नहीं करने के लिए दी है। इससे पहले 22 मई को चेतावनी जारी की गई थी। अमेरिका ने चेतावनी में कहा है कि पाकिस्तान में साम्प्रदायिक हमलें लगातार बढ़ रहे है।

    अमेरिकी राजनयिकों और नागरिकों को निशाना बना चुके है आतंकवादी

    पाकिस्तान में सरकारी अधिकारियों, मानवीय और गैर-सरकारी संगठनों के कर्मचारियों, आदिवासी वृद्धों और कानून प्रवर्तन कर्मियों के खिलाफ हमला आम हो गया है।

    अमेरिका ने कहा है कि पहले भी पाकिस्तान में आतंकवादियों ने अमेरिकी राजनयिकों और नागरिकों को अपना शिकार बनाया है। इसके अलावा आतंकवादियों और आपराधिक समूहों ने फिरौती के लिए अमेरिकी नागरिकों के अपहरण का सहारा लिया है।

    अफगानिस्तान में अमेरिकी कमांडर से पता चलता है कि पाकिस्तान में तालिबान कितना सक्रिय है। बलूचिस्तान में पिछले 6 महीनों में आतंकवादी संगठनों ने कई आत्मघाती बम विस्फोट, ग्रेनेड हमले और पाकिस्तानी सुरक्षा बलों और नागरिकों पर हमला किया गया।

    इसके अलावा भी अन्य जगहों पर हमले बढ़े है। जबकि पाकिस्तान को आतंकवादी गतिविधियां रोकने के लिए अमेरिका की तरफ से बड़ी संख्या में उसे आर्थिक सहायता दी जाती है। उसके बावजूद भी आतंकी हमलों में कमी नहीं आई है।