Wed. Feb 1st, 2023
    कैलाश सत्यार्थी

    गोरखपुर के एक अस्पताल में हुए हादसे की वजह से करीबन 63 बच्चों की जान चली गयी है। इसके बाद नोबल पुरुष्कार से सम्मानित कैलाश सत्यार्थी ने इसपर प्रतिक्रिया दी। कैलाश के मुताबिक यह एक हादसा नहीं बल्कि बड़ी मात्रा पर हत्या है। कैलाश ने यह भी कहा कि अगर योगी सरकार चाहे तो प्रदेश की भ्रष्ट स्वास्थ्य प्रणाली को अपने आदेशों से बदल सकती है।

    इस मामले पर विपक्षी पार्टियों ने भी जमकर विरोध किया। कांग्रेस के नेताओं ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को माफ़ी मांगने और प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री को इस्तीफा देने की माणंग की है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी के कहने पर पार्टी के चार वरिष्ठ नेता गोरखपुर घटना की जांच करने पहुंचे। इन नेताओं में गुलाम नबी आजाद, राज बब्बर, संजय सिंह और प्रमोद तिवारी शामिल हैं। गुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि इस घटना की जिम्मेदार पूरी तरह से सरकार है। मुख्यमंत्री को इसके लिए माफी मांगनी चाहिए। जांच के लिए सांसदों की टीम बने। राज्‍य सरकार के स्वास्थ्य मंत्री को घटना की नैतिक जिम्‍मेदारी लेते हुए इस्तीफा देना चाहिए।

    गोरखपुर मेडिकल कॉलेज

    इस मामले पर हालाँकि योगी आदित्यनाथ ने एक आपातकालीन बैठक बुलाई है और मामले पर चर्चा की है।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।