Tue. Mar 5th, 2024
    ईवीएम मशीन

    गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजे आने लगे है। शुरुआती रुझानों में बीजेपी को बढ़त मिलती दिख रही है। गुजरात के साथ साथ हिमाचल में भी बीजेपी का जादू सर चढ़कर बोल रहा है। बीजेपी कार्यकर्ताओं में जोश देखा जा सकता है। गुजरात में पार्टी दफ्तर के बाहर भारी भीड़ देखी जा रही है।

    इस बीच शुरूआती रुझानों में पीछे चल रही पार्टियों ने एक बार फिर ईवीएम से छेड़छाड़ का मुद्दा जोर शोर से उठाना शुरू कर दिया है। विपक्ष का मानना है कि चुनाव जीतने के लिए बीजेपी ने ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ किया है। ईवीएम पर सबसे ज्यादा सवाल हार्दिक पटेल खड़े कर रहे है।

    पटेल नेता ने चुनाव आयोग को निशाने पर लेते हुए ट्वीट किया है कि “मेरी बातों पर सिर्फ हंसी आएगी लेकिन विचार कोई नहीं करेगा। भगवान के द्वारा बनाए हमारे शरीर में छेड़छाड़ हो सकती है तो मानव के द्वारा बनाई गई इवीएम मशीन में क्यों छेड़छाड़ नहीं हो सकती !! ATM हेक हो सकते है तो EVM क्यूँ नहीं !!”

    https://twitter.com/HardikPatel_/status/942291713179217920

    हार्दिक यहीं नहीं रुके, उन्होंने एक और ट्वीट में यह भी कहा है कि “विसनगर,पाटन,राधनपुर, टंकारा,ऊंझा, वाव ,जेतपुर,राजकोट-68, 69, 70,लाठी बाबरा, छोटाउदेपुर, संतरामपुर, सावली, मांगरोल, मोरवाहडफ़, नादोद, राजपीपला, डभोई और खास कर पटेल और आदिवासी इलाके की विधानसभा क्षेत्र में इवीएम सोर्स कोर्ड से हेकिंग करने का प्रयास हुआ हैं।”

    https://twitter.com/HardikPatel_/status/942285886800134145

    पटेल नेता कल देर रात से ही बीजेपी को ईवीएम के मुद्दे पर घेर रहे है। उन्होंने कल देर रात को एक ट्वीट में यह दावा किया था कि ईवीएम से छेड़छाड़ करके बीजेपी गुजरात में जीत जाएगी और हिमाचल में हार जाएगी। जिससे लोगो यह को भ्रम हो जाएगा कि यह चुनाव एकदम साफ़ सुथरे तरीके से हुआ है। उन्होंने ट्वीट किया था कि “अहमदाबाद की एक कंपनी के द्वारा 140 सोफ्टवेर एंजिनियर के हाथों से 5000 ईवीएम मशीन के सोर्स कोर्ड से हेकिंग करने की तैयारी हैं”

    https://twitter.com/HardikPatel_/status/942109589809623040

    हार्दिक के ट्वीट्स के बाद गुजरात चुनाव में भी ईवीएम का मुद्दा गरमा गया। लोगों और विपक्ष ने जब सरकार और चुनाव आयोग पर संदेह करना शुरू कर दिया तो मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार जोति को आगे आना पड़ा।

    अचल कुमार ने विपक्ष के आरोपों को निराधार बताते हुए कहा कि इस मुद्दे पर पहले ही मीडिया को सभी जवाब दिए जा चुके है। वैसे भी ईवीएम से छेड़छाड़ संभव नहीं है क्यूंकि तमाम मतदान केंद्रों पर वीवीपीएटी मौजूद थे।