दा इंडियन वायर » खेल » क्या गंभीर नहीं चाहते थे कोलकाता का हिस्सा बने रहना?
खेल

क्या गंभीर नहीं चाहते थे कोलकाता का हिस्सा बने रहना?

गौतम गंभीर कोलकाता

कोलकाता नाइटराइडर्स के मैनेजिंग डायरेक्टर वेंकी मैसूर ने ताज़ा बातचीत में इस बात का खुलासा करते हुए कहा कि, “गंभीर को हम राइट टू मैच के तहत रिटेन करने वाले थे मगर ऑक्शन से कुछ समय पहले गंभीर हमारे पास आए और उन्होंने हमें बताया कि वे अब एक नई चुनौती का सामना करना चाहते हैं और क्योंकि वो पहले ही हमारे लिए बहुत कुछ कर चुके हैं, उनकी इच्छा का सम्मान करना एक अच्छा तरीका था उन्हें विदा करने का।”

गौतम गंभीर को 2011 संस्करण में कोलकाता नाइटराइडर्स ने 11.04 करोड़ में खरीद कर उन्हें उस वर्ष का सबसे महंगा खिलाड़ी बनाया था। उस वर्ष उनकी कप्तानी में कोलकाता पहली बार टॉप 4 तक पहुंची थी। गौतम गंभीर ने अगले वर्ष ही टीम को पहला आईपीएल ख़िताब और 2014 में फिर से आईपीएल जिताया था। इस से पहले गंभीर दिल्ली डेयरडेविल्स की तरफ से खेल रहे थे।

कल बेंगलुरु में हुए ऑक्शन में गौतम गंभीर को दिल्ली ने 2.80 करोड़ रुपये में वापस खरीद लिया, गंभीर ने ट्विटर पर यह खबर सब से साझा करते हुए लिखा – ‘आई एम बैक।’ गौतम गंभीर ने कहा कि कोलकाता के साथ उन का अब तक का सफर यादगार रहा है, पर अब वे कुछ नया करना चाहते हैं।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Want to work with us? Looking to share some feedback or suggestion? Have a business opportunity to discuss?

You can reach out to us at [email protected]