Sat. Nov 26th, 2022
    वायु प्रदूषण पाक पंजाब सरकार

    प्रदूषण के मुद्दे पर दिल्लीपंजाब की लड़ाई के बीच अब पाकिस्तान भी कूद गया है। पाकिस्तान की पंजाब सरकार ने भारत के राज्य पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को ट्वीट करके सलाह दी है।

    पाक की पंजाब सरकार ने अपनी ट्वीट में यह भी कहा कि पर्यावरणीय प्रदूषण दोनों देशों के लोगों के लिए खतरा पैदा कर रहे है। गौरतलब है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह को चिट्ठी लिखी थी जिसमें कहा गया था कि वे पराली (जली हुई फसल) के धुंए को कम करने के लिए आवश्यक कदम उठाए।

    केजरीवाल ने पत्र में कैप्टन के साथ मुलाकात करने की मांग भी की थी। जिसके बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने यह मुद्दा केन्द्र पर डालते हुए कहा था कि पंजाब इस मामले में असहाय है इसलिए केजरीवाल के साथ मुलाकात करने से कोई फायदा नहीं होगा।

    पाक की पंजाब सरकार ने दी सलाह

    वायु प्रदूषण में वृद्धि के लिए हरियाणा और पंजाब पर केजरीवाल ने आरोप लगाया था। अब इस लड़ाई में पाकिस्तान ने भी सीएम अमरिंदर सिंह को सलाह दे डाली है। पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने कहा कि यहां पर पराली को जलाने पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाया गया है।

    उम्मीद है कि पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह भी पराली को जलाने के प्रतिबंध पर इस तरह के कदम उठाएंगे। पाक की पंजाब सरकार ने ट्वीट में केजरीवाल का समर्थन करते हुए इससे निपटने के लिए कुछ योजना भी बताई है।

    पाक की पंजाब सरकार के मुताबिक प्रदूषण दोनों देश के लिए खतरा है इसलिए इसे रोकने के लिए हमें मिलकर काम करना होगा।

    इस बीच अमरिंदर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा और उन्हें इस मुद्दे पर मुख्यमंत्रियों की बैठक बुलाई जाने की मांग रखी। अपने पत्र में सिंह ने उन्हें इस मुद्दे पर कृषि, खाद्य और पर्यावरण के लिए केंद्रीय मंत्रियों के साथ सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों की बैठक की मांग रखी।

    गौरतलब है कि दिल्ली में इस समय वायु प्रदूषण ने भयानक रूप धारण कर लिया है। केजरीवाल ने इसके पीछे कारण पंजाब व हरियाणा में किसानों के द्वारा पराली जलाने को माना है जो कि हवा में मिल गई है।