Tue. Mar 5th, 2024
    ओबामा क्लिंटन

    अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा और कैबिनेट के दो अन्य शख्शियतों सहित कई आला अधिकारियों के घर पर बम को भेजा गया था। ख़बरों के मुताबिक यह आतंकी साजिश थी। बराक ओबामा के साथ ही हिलेरी क्लिंटन, पूर्व एर्टोनी जनरल एरिक होल्डर और सीआइए के पूर्व निदेशक जॉन ब्रेन्नन के घर पर बम का पैकेट भेजा गया था।

    ख़बरों के मुताबिक इस घटना में कोई हताहत नहीं हुआ है और अभी तक किसी ने इस घटना की जिम्मेदारी नहीं ली है। अमेरिका में 6 नवम्बर को मध्यावधि चुनाव होने हैं। ख़बरों के मुताबिक डेमोक्रेट्स पार्टी डोनाल्ड ट्रम्प की रिपब्लिकन से एक या दोनों सभाओं का कार्यभार छीन सकते हैं। यक़ीनन अमेरिका की जनता का डोनाल्ड ट्रम्प की नीतियों से मोहभंग होता नज़र आ रहा है।

    ऐसा ही एक पैकेज सोमवार को अमेरिका के करोड़पति अमीर और डेमोक्रेट्स को चंदा देने वाले जॉर्ज सोरोस के घर पर पहुँचाया गया था। लोस अन्गेलेस से डेमोक्रेटिक की दिग्गज अमेरिकी प्रतिनिधि ने कहा कि पांच संदिग्ध पैकेट को फ़ेडरल ब्यूरो ऑफ़ इन्वेस्टीगेशन की टीम को सौंप दिया गया है।

    एफबीआई के मुताबिक पाँचों संदिग्ध पैकेट की पैकिंग लगभग एक जैसी है। इन पैकेट में धमाका करने वाला खतरनाक पदार्थ था। अमेरिका की ख़ुफ़िया जांच एजेंसी के मुताबिक पैकेट में हिलेरी क्लिंटन के न्यूयॉर्क वाले घर और बराक ओबामा के वांशिगटन वाले घर का पता लिखा हुआ था।

    न्यूयॉर्क पुलिस के कमिश्नर ने बताया कि पैकेट में मौजूद डिवाइस पाइप बम था। न्यूयॉर्क के मेयर ने बताया कि यह साफ़ तौर पर आतंकवाद से देश के नेताओं और स्वतंत्र प्रेस को कमजोर करने की साजिश है।

    डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा कि इस समय सभी को एकजुट होकर राजनीतिक हिंसा को अंजाम देने वालो को साफ़ तौर पर जवाब देना चाहिए कि अमेरिका ऐसी घिनौनी हरकते बर्दास्त नहीं करेगा और न ही अमेरिका में ऐसे हिन्साजनक कृत्य की कोई जगह है। उन्होंने कहा कि वह आज सुबह हुई इस वारदात से क्रोधित, निराश और नाखुश है और हम इसकी जड़ तक जायेंगे।

    आतंकी हमले का शिकार हुए सभी नेता डेमोक्रेट्स हैं और सीएनएन ने खबर प्रकाशित कर इसका ठीकरा इशारों में रिपब्लिकन्स पर फोड़ा था। राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा कि मेनस्ट्रीम मीडिया अमेरिकी नागरिकों का दुश्मन है। विपक्षी नेताओं ने कहा कि डोनाल्ड ट्रम्प के एकजुट होने बातें खोखली है। जो व्यक्ति हिंसा का पक्षधर है वह किसी की सलामती की दुआ कैसे कर सकता है।

    हाल ही में डोनाल्ड ट्रम्प ने अमेरिकी पत्रकार का शोषण करने वाले राजनेता को सम्मानजनक कहा था। ऐसा ही एक हादसा साल 11 सितम्बर 2001 में हुआ था, उस दौरान बम के पैकेट को मीडिया ऑफिस और दो अमेरिकी संसद के सदस्यों के यहाँ पहुँचाया गया था। इस हादसे में पांच लोगो की मृत्यु और 17 लोग इन्फेक्शन का शिकार हुए थे।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *