दा इंडियन वायर » व्यापार » एचडीएफसी बैंक: नियमों में बदलाव, बचत खाते में कितना रखना होगा न्यूनतम बैलेंस?
व्यापार

एचडीएफसी बैंक: नियमों में बदलाव, बचत खाते में कितना रखना होगा न्यूनतम बैलेंस?

एचडीएफसी बैंक
एचडीएफसी बैंक ने क्लासिक कैटगरी वाले बचत खाताधारकों के लिए हर महीने खातें में न्यूनतम बैलेंस रखने की राशि एक लाख रूपए कर दी है

एचडीएफसी बैंक ने अपने खाताधारकों के लिए नियम-कायदे में कुछ बदलाव किए हैं। बैंक की ओर से शुक्रवार को जारी निर्देश के मुताबिक क्लासिक कैटगरी वाले खाताधारकों को अपने खाते में अब हर महीने कम से कम एक लाख रूपए रखने होंगे। जब कि एफडी और बचत खाता साथ रखने पर यह न्यूनतम राशि पांच लाख रूपए कर दी गई है।

आपको बतादें कि इससे पूर्व क्लासिक कैटगरी वाले खाताधारकों को अकाउंट में तीन महीने पर कम के कम पांच लाख रूपए रखने पड़ते थे। एचडीएफसी बैंक के नए नियमानुसार अब क्लासिक खाताधारक महीने में कम से कम पांच बार नि:शुल्क कैश ट्रांजैक्शन कर सकता है।

गौरतलब है कि एचडीएफसी बैंक का यह नियम आगामी 9 दिसम्बर 2017 से प्रभावी होगा। खाताधारकों को लॉकर सुविधा रखने पर बैंक 25 फीसदी का डिस्काउंट भी दे रहा है।

यहां तक कि वार्षिक रखरखाव पर लिया जाने वाला जार्च भी नि:शुल्क कर दिया गया है।  अभी कुछ ही दिनों पहले एचडीएफसी बैंक ने डिजिटल ट्रांजेक्शन पर भी भारी छूट देेने की घोषणा की। इस बैंक ने एक नवंबर 2017 से आरटीजीएस व एनईएफटी के जरिए लेन देन को चार्ज फ्री कर दिया है।

यानि अब एचडीएफसी कस्टमर्स को आर.टी.जी.एस. व एन.ई.एफ.टी ट्रांजेक्शन पर कोई शुल्क नहीं देना होगा। ‘एन.ई.एफ.टी./आर.टी.जी.एस.शुल्कों में किया जाने वाला यह बदलाव खुदरा बचतों, अप्रवासी ग्राहकों तथा नौकरीपेशा लोगों के लिए किया गया है। एचडीएफसी बैंक की ओर से कस्टमर्स के लिए 25 पन्नों की एक नि:शुल्क चेकबुक भी दी गई है जिसकी सीमावधि एक साल निर्धारित की गई है।

फेसबुक पर दा इंडियन वायर से जुड़िये!

Advertisement