Sun. Jul 21st, 2024
    उत्तर कोरिया सिंगापुर मिसाइल परीक्षण

    उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षणों ने पूरी दुनिया को खतरें में डाल रखा है। उत्तर कोरिया के लगातार परमाणु व मिसाइल परीक्षणों से विभिन्न देशों की उड़ान यात्रा को नुकसान पहुंच रहा है। खतरे की आंशका को देखते हुए उत्तर कोरिया के आस-पास के विमान वाहनों का मार्ग भी बदला जा रहा है।

    अब सिंगापुर ने उत्तर कोरिया मिसाइल खतरों के मद्देनजर सियोल-लॉस एंजिल्स की उड़ान मार्ग को बदलने का निर्णय लिया है। पिछले जुलाई से उत्तर कोरियाई मिसाइल परीक्षणों के खिलाफ एक सुरक्षा सावधानी के रूप में इस उड़ान मार्ग को बदल दिया गया है। कोरियाई प्रायद्वीप पर जारी तनाव के बीच सिंगापुर एयरलाइंस ने अपनी उड़ानों में से कुछ के यात्रा मार्ग बदलने का निर्णय लिया है।

    गौरतलब है कि उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षणों में लगातार इजाफा हो रहा है। इसका असर आसमान में कई देशों की एयरलाइन्स पर भी हो सकता है। कई देशों को आशंका है कि परमाणु परीक्षण के निशाने में कही कोई एयरलाइन्स ना आ जाए।

    ऐसे में उत्तर कोरिया के पास सिंगापुर एयरलाइन्स ने इस डर की वजह से अपने उडान मार्ग को बदल दिया है। जापान के समुद्र में प्योंगयांग के निरंतर मिसाइल परीक्षणों के नजर आने के बाद सिंगापुर ने सियोल-लॉस एंजिल्स के उड़ान को परिवर्तित कर दिया है। यह कदम सुरक्षा के मद्देनजर उठाया गया है।

    अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन ने भी थी निंदा

    गौरतलब है कि सिंगापुर एयरलाइंस उत्तर कोरिया के मिसाइलों की खबरों पर पूरी तरह से नजर बनाए हुए है। सिंगापुर एयरलाइंस के एक प्रवक्ता ने कहा है कि हमारे यात्रियों और चालक दल की सुरक्षा हमारी प्राथमिकता है और बाद में स्थिति ठीक होने पर हम अपनी उड़ाने फिर से शुरू कर देंगे।

    उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षण उत्तरी पेरिस क्षेत्र में जारी एयरलाइन्सों के लिए काफी खतरनाक साबित हो सकते है। अक्टूबर में अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन ने उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षणों की निंदा की भी की थी। लेकिन उत्तर कोरिया पर कोई असर नहीं हो रहा है। इसके मिसाइल परीक्षण से आसमान में उड़ने वाले विमानों को काफी खतरा है।