Wed. Apr 24th, 2024
    मून जे इन

    दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन ने मंगलवार को प्योंगयांग के परमाणु निरस्त्रीकरण के बदले उत्तर कोरिया में आर्थिक समाधान की मांग की है। वह संयुक्त राष्ट्र महासभा के 74 वें सत्र को संबोधित कर रहे थे। फॉक्स न्यूज़ के मुताबिक, मून ने सत्र को सम्बोधित करते हुए कहा कि “उत्तर कोरिया की सुरक्षा की आर्थिक दक्षिण कोरिया लेगा। मुझे उम्मीद है कि उत्तर कोरिया भी दक्षिण कोरिया के लिए यही करेगा।”

    कोरियाई सीमा पर शान्ति क्षेत्र की स्थापना

    उन्होंने दोनों कोरियाई देशो के बीच एक शान्ति क्षेत्र की स्थापना की मांग की है। मून ने उत्तर कोरिया में आर्थिक समाधान की मांग की है। डोनाल्ड ट्रम्प ने भी किम जोंग उन के साथ चौथी मुलाकात के संकेत दे दिए हैं, जिसका आयोजन जल्द हो सकता है।

    सोमवार को ट्रम्प और मून ने यूएनजीए की बैठक के इतर द्विपक्षीय मुलाकात का आयोजन किया था जिस दौरान दोनों देशो के नेताओं ने परमाणु निरस्त्रीकरण वार्ता को बहाल करने पर चर्चा की थी। अल जजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक, मून ने कहा कि “उन्हें उम्मीद है कि वांशिगटन और प्योंगयांग के बीच वर्किंग लेवल की वार्ता में दोनों नेताओं के बीच तीसरे सम्मेलन कायोजन की वातचीत हो जाये।

    अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच वार्ता हनोई सम्मेलन के नाकाम होने के बाद ठप पड़ गयी थी। डोनाल्ड ट्रम्प और किम जोंग उन के बीच प्रतिबंधों से निजात के बाबत मतभेद बरक़रार थे। अमेरिका के मुताबिक प्योंगयांग को पूर्ण परमाणु निरस्त्रीकरण के बाद ही प्रतिबंधो से निजात मिलेगी लेकिन किम सर्वप्रथम प्रतिबंधो से राहत की मांग कर रहे हैं।

    मुलाकात के दौरान ट्रम्प और मून ने अपनी पिछली प्रतिबद्धताओं को दोहराया था कि उत्तर कोरिया के खिलाफ बल का इस्तेमाल नहीं करेंगे। अगर उत्तर कोरिया परमाणु निरस्त्रीकरण को मुकम्मल करता है तो यह देश को एक बेहतर भविष्य मुहैया करेगा।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *