Fri. Dec 1st, 2023
    हाइड्रोजन बम परिक्षण

    उत्तर कोरिया ने दावा किया है कि उसने हाल ही में हाइड्रोजन बम का परिक्षण किया है। इसके बाद अमेरिका जापान सहित कई देशों में खलबली मच गयी। संयक्त सुरक्षा देशों ने आपातकालीन बैठक बुला कर इसपर चर्चा की।

    उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच विवाद सालों से चला आ रहा है। अमेरिका को नियंत्रण में रखने के लिए उत्तर कोरिया ने समय समय पर कई परमाणु परिक्षण किये हैं। उत्तर कोरिया के मुताबिक उसका मक़सद अमेरिका तक पहुंचना है।

    विशेषज्ञों के मुताबिक किसी भी देश के लिए हाइड्रोजन बम को परिक्षण करना मुमकिन नहीं है। ऐसे में यदि उत्तर कोरिया का दावा सही है, तो इससे सभी बड़े देशों पर खतरा बढ़ जाता है। डोनाल्ड ट्रम्प ने इसके बाद कहा कि उत्तरी कोरिया को बहुत सहन कर लिया और अब इसका कुछ करना होगा।

    बता दें कि हाइड्रोजन बम इतना शक्तिशाली होता है कि वह 1945 में जापान पर गिरे परमाणु बम से हज़ार गुना ज्यादा ताकतवर हो सकता है। अगर यह सच है तो इसका अनुमान लगाना भी काफी डरावना है। देखना यह होगा कि उत्तर कोरिया के इस कदम का अमेरिका क्या जवाब देता है?

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।