Thu. Apr 18th, 2024
    उत्तर कोरिया और अमेरिका

    उत्तर कोरिया ने हाल ही में देश की पूर्वी सीमा पर सैन्य उपस्थिति बढ़ाते हुए मिसाइलें और लड़ाकू विमान जमा कर दिए हैं। इसकी खबर मिलने पर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प पर कड़ी सैन्य कार्यवाई करने की धमकी दी है।

    सोमवार को उत्तर कोरिया के अधिकारीयों ने कहा था कि यदि उनके देश की सीमा के आसपास कोई भी अमेरिकी लड़ाकू विमान दिखा, तो उसे उड़ा दिया जाएगा। इसके बदले में ट्रम्प ने भी कहा था कि कहीं ऐसा न हो कि यह देश ज्यादा दिन रहे ही ना।

    उत्तर कोरिया द्वारा की गयी मौजूदा कार्यवाई को अमेरिका के रक्षा रडार ने पता लगाया। अमेरिकी अधिकारीयों के मुताबिक उत्तर कोरिया ने बड़ी मात्रा में हथियार और युद्ध विमान जमा किये हैं। अमेरिकी विशेषज्ञों के मुताबिक उत्तर कोरिया पूर्वी सीमा पर अमेरिका का सामना करने के लिए तैयारी कर रहा है।

    अभी तक जांच की गयी तस्वीरों के मुताबिक उत्तर कोरिया ने मिग-29 विमानों का एक जखीरा सीमा पर तैनात कर लिया है। यहाँ से ये लड़ाकू विमान 900 मील लम्बी दूरी तय कर सकते हैं। इसके अलावा कुछ मिसाइल और टैंक भी दिखाई दिए हैं। लेकिन अभी तक किसी प्रकार की युद्ध की तैयारियां नहीं दिखी है।

    अमेरिकी रक्षा अधिकारी यह दावा कर रहे हैं कि उनकी सैटेलाइट के जरिये वे उत्तर कोरिया की किसी भी प्रकार की कार्यवाई पर नज़र रख सकते हैं।

    दोनों देशों की जुबानी जंग

    सोमवार को उत्तर कोरिया की ओर से कहा गया था कि यदि अमेरिका का कोई भी विमान उनकी सीमा के आस पास दिखा, तो उसे नष्ट कर दिया जाएगा। ट्रम्प ने भी इसका कड़ा प्रतिवाद किया था।

    ट्रम्प ने मंगलवार को कहा, ‘अमेरिका सैन्य कार्यवाई के लिए पूरी तरह से तैयार है। यदि हम यह रास्ता अपनाते हैं, यह उत्तर कोरिया के लिए बहुत खतरनाक साबित होगा।’ कोरियाई तानाशाह किम जोंग उन के बारे में बोलते हुए ट्रम्प ने कहा, ‘उसका बर्ताव ठीक नहीं है। वह ऐसी चीज़ें बोल रहा है जो उसे नहीं बोलनी चाहिए।’

    ट्रम्प ने हालाँकि कहा कि वे सिर्फ उत्तर कोरिया के द्वारा की जा रही कार्यवाई का उत्तर दे रहे हैं। ट्रम्प ने कहा कि पिछली सरकारों ने काम ठीक से नहीं किया है और वे इसे सही कर रहे हैं।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।