Fri. Sep 30th, 2022
    उत्तर कोरिया और अमेरिका

    उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच जुबानी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है। आज उत्तर कोरिया के सरकारी अख़बार में लिखा गया कि अमेरिका की किस्मत उत्तर कोरिया के हाथ में है।

    दरअसल उत्तर कोरिया के हाइड्रोजन बम परिक्षण के बाद अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर कड़े प्रतिबन्ध लगाने को कहा था। इसके बाद पिछले सप्ताह संयुक्त राष्ट्र ने उत्तर कोरिया पर कच्चे तेल और कोयले के निर्यात पर प्रतिबन्ध लगा दिया था।

    इसके बाद भी उत्तर कोरिया के तेवर सीधे नहीं हुए और उसने एक और मिसाइल लांच कर डाली। यह मिसाइल जापान के ऊपर से गुजरकर पानी में जा गिरी। इसके बाद अमेरिका ने फिर से कड़ी कार्यवाई करने की चेतावनी दी।

    अमेरिका की और से कहा गया कि अब विश्व के देशों को मिलकर उत्तर कोरिया पर दबाव बनाना होगा। ट्रम्प ने चीन और रूस को उत्तर कोरिया के मिसाइल परिक्षण की निंदा करने को कहा।

    उत्तर कोरिया ने अब कड़ा रुख अपनाते हुए कहा है कि अगर अमेरिका ने कोरिया के आस पास सैन्य उपस्थिति बढ़ाने की कोशिश की, तो किम जोंग कुछ भी कर सकता है।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।