Fri. Jun 21st, 2024
    सुषमा स्वराज

    भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज आज संयुक्त राष्ट्र की बैठक में शामिल होने न्यू यॉर्क पहुंची। यहाँ सुषमा आतंकवाद, रोहिंग्या मुस्लिम और कश्मीर मुद्दे पर चर्चा कर सकती है।

    अमेरिका के न्यू यॉर्क शहर में संयुक्त राष्ट्र की बैठक इस साल हो रही है। यह बैठक करीबन एक सप्ताह चलेगी, जिस दौरान कूटनीति, सामाजिक मुद्दे समेत कई विषयों पर चर्चा होगी। इस दौरान सुषमा स्वराज विश्व के कई नेताओं से करीबन 20 द्विपक्षीय और त्रिपक्षीय मुलाक़ातें करेंगी।

    भारत की ओर से मुख्य रूप से आतंकवाद, कश्मीर मुद्दा, पाकिस्तानी आतंकवाद ओर रोहिंग्या मुस्लिम पर चर्चाएं होंगी। इसके लिए सुषमा स्वराज समेत एक विशेष भारत दल को भेजा गया है।

    सुषमा को हवाई अड्डे पर अमेरिका में मौजूद भारतीय राजदूत नवतेज सरना और संयुक्त राष्ट्र में भारतीय प्रतिनिधि सय्यद अकबरुद्दीन ने स्वागत किया।

    आज सुषमा अमेरिकी विदेश मंत्री रेक्स टिलर्सन और जापान के विदेश मंत्री तारो कोनो से मुलाक़ात करेंगी। इस दौरान तीनों देश आपसी रिश्तों और सैन्य गठजोड़ पर चर्चा कर सकते हैं।

    इसके बाद स्वराज राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की अध्यक्षता में आयोजित एक बैठक में शामिल होंगी, जिस दौरान संयुक्त राष्ट्र के उच्च मुद्दों पर बातचीत होगी।

    हाल ही में संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान द्वारा लगातार कश्मीर का मुद्दा उठाया जा रहा है जिसपर भी सुषमा को बातचीत करनी होगी। इसके अलावा भारत के लिए मुख्य मुद्दों में आतंकवाद, सीमा सुरक्षा, रोहिंग्या शरणार्थी और चीन की घुसपैठ शामिल हैं।

    इसके बाद 23 सितम्बर को सुषमा स्वराज संयुक्त राष्ट्र की बैठक को सम्बोधित करेंगी। सुषमा का यह भाषण भारत की आंतरिक चुनौतियों को प्रकट करेगा एवं आतंकवाद के खिलाफ भारत की रणनीति को दर्शायेगा।

    संयुक्त राष्ट्र में मौसम बदलने को लेकर भी एक उच्च स्तर की बैठक होंगी, जिसमे भारत और अमेरिका भी शामिल होगा।

    इससे पहले भारत और पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों के बीच होने वाली मुलाक़ात को रद्द कर दिया गया था। कश्मीर को लेकर भारत का रुख देखना होगा। पाकिस्तानी विदेश मंत्री आसिफ ख्वाजा भी इस मुद्दे पर बात कर सकते हैं।

    चीन की लगातार घुसपैठ पर भी इस दौरान चर्चा होगी। अरुणाचल प्रदेश और लदाख की सीमाओं पर चीन द्वारा लगातार घुसपैठ के मामले सामने आ रहे हैं। डोकलाम विवाद के सुलझ जाने के बाद भी दोनों देशों की सीमाओं पर हालत पूरी तरह से नहीं सुधरे हैं।

    24 सितम्बर को सुषमा वापस भारत लौटेंगी।

    By पंकज सिंह चौहान

    पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।