Mon. Apr 15th, 2024
    भोला सिंह

    बीजेपी सांसद और वरिष्ठ नेता भोला सिंह एक बार फिर से अपने दिए गए बयान को लेकर विवादों में घिऱ गए है। एक बार फिर भोला सिंह ने अपना भोलापन और बुद्धिमता को दर्शाते हुए विवादस्पद बात अपने भाषण के दौरान कह दी, जिसके बाद माहौल इतना बिगड़ गया कि भोला सिंह को अपना भाषण बीच में ही छोड़ कार्यक्रम से विदा लेनी पड़ी। आपको बता दें यह बात कोई नई नहीं है ऐसा कारनामा भोला सिंह पहले भी कर चुके हैं।

    दरअसल, 3 नवंबर, शुक्रवार को बेगुसराय में आयोजित भाजपा के दिवगंत नेता कैलाशपति मिश्र की पुण्यतिथि के कार्यक्रम में कई बीजेपी नेता शामिल हुए। इस कार्यक्रम में बेगूसराय सांसद भोला सिंह भी पहुंचे। परन्तु जनसभा को संबोधित करते हुए भोला सिंह साहब ने ऐसा कुछ कह दिया, जिसकी वजह से बीजेपी नेता और कार्यकर्ता भड़क गए और शोर मचाने लगे। हुआ यह कि भोला सिंह अपना भाषण कहते हुए शहीद -ऐ -आज़म भगत सिंह का जिक्र कर बैठे, यहां तक तो सब ठीक रहा लेकिन जब उन्होंने भगत सिंह कि तुलना जेएनयू छात्रनेता और छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार से की तो कार्येक्रम में बवाल मच गया।

    भाजपा नेता भोला सिंह ने कन्हैया कुमार की तुलना शहीद भगत सिंह से करते हुए कहा कि “भगत सिंह को भी उस समय की तत्कालीन सरकार देशद्रोही माना करती थी जैसे की आज की सरकार कन्हैया कुमार को मानती है। जिस प्रकार आज भगत सिंह को कोई भी देशद्रोही नहीं मानता, उसी तरह में भी कन्हैया को दोषी नहीं मानता हूँ”। उन्होंने आगे कहा कि “यदि सरकार को कन्हैया कुमार गुनहगार लगते हैं तो सरकार उनके खिलाफ सबूत पेश करे”।

    इस कार्यक्रम में बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव रजनीश कुमार भी उपस्थित थे। उन्होंने भोला सिंह के इस बेतुके बयान का विरोध करते हुए कहा “यदि इस तरह की बयानबाजी करनी है तो बाहर जाकर करिेए क्योंकि इस प्रकार की बातें करना पार्टी सिद्धांतों व विचारधारा के खिलाफ है। उनका यह कहना बिलकुल उचित हैं क्यूंकि इस प्रकार के बयान ना सिर्फ जन भावनाओं को ठेस पहुंचाते हैं, बल्कि आपकी मानसिकता को भी दर्शाते हैं।