Wed. Dec 7th, 2022
    जेटली पर ट्वीट कर फंसे राहुल

    अरुण जेटली पर किया गया ट्वीट कांग्रेस अध्यक्ष को महंगा पड़ सकता है। इस मामले में बीजेपी राज्यसभा में विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लेकर आयी है। इस प्रस्ताव पर वेकैंया नायडू विचार कर सकते हैं।

    राहुल के बयान पर बीजेपी ने कड़ा ऐतराज जताया है। देश भर में पार्टी कार्यकर्ता इस बयान का विरोध कर रहे है। इस मुद्दे पर बीजेपी नेता भूपेंद्र यादव खासे नाराज प्रतीत हो रहे है।

    राहुल के खिलाफ भूपेंद्र राज्यसभा में विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाए है। उन्होंने कहा कि “राहुल की यह हरकत काफी सस्ती राजनीति का प्रतिक है। एक पार्टी अध्यक्ष को इस तरह की भाषा का प्रयोग करना बिलकुल शोभा नहीं देता। अपने बयानों से राहुल ने अरुण जेटली का मजाक उड़ाया है और साथ ही उनकी गरिमा को भी नुक्सान पहुँचाया है”

    भूपेंद्र ने राहुल पर वार किया कि “क्यूंकि वो एक लोकसभा अध्य्क्ष है इसलिए राहुल पर लाया गया विशेषाधिकार हनन के प्रस्ताव को स्वीकार्य या अस्वीकार्य करने का हक़ राज्यसभा को है।”

    किस बात पर बढ़ा विवाद

    गुजरात विधानसभा चुनाव में मोदी ने मनमोहन पर लगाए थे गंभीर आरोप

    पूरा मामला गुजरात विधानसभा में दिए गए मोदी के एक बयान से जुड़ा है। मोदी ने अपने एक बयान में कहा था कि “कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर के घर पर हुई एक बैठक के तार पाकिस्तान के साथ जुड़े थे” प्रधानमंत्री का यह भी दावा था कि “इस बैठक में मनमोहन सिंह भी शामिल थे और गुजरात चुनावों को लेकर भारत में कार्यरत पाकिस्तान के उच्चायुक्त और पूर्व पाकिस्तानी विदेश मंत्री खुर्शीद कसूरी से चर्चा कर रहे थे।”

    इस इल्जाम के बाद कांग्रेस पार्टी एक दम सी बोखला गयी। राहुल गाँधी समेत पार्टी के हर नेता ने मोदी के इस बयान का विरोध किया। बयान पर संसद के दोनों सदनों में जमके हंगामा हुआ। कांग्रेस पार्टी किसी भी हाल में मोदी का माफीनामा चाहती थी।

    विवाद का जेटली ने निकाला था समाधान

    हालंकि मनमोहन सिंह पर कांग्रेस का विरोध बड़े ही नाटकीय ढंग से खत्म हुआ। मोदी के माफ़ी से निचे एक शब्द तक ना सुनने को तैयार कांग्रेस पार्टी अरुण के एक बयान पर चुप हो गयी। अरुण जेटली ने अपने बयान में माहौल को शांत करते हुए कहा था कि “जिस तरह मोदी के बयान का मतलब निकला गया वो गलत था, हमारे प्रधानमंत्री ने कभी मनमोहन सिंह का असम्मान नहीं किया या ऐसा करने की कभी कोशिश नहीं की, उनके कहने का आशय वो नहीं था जो निकाला गया।”

    जेटली पर ट्वीट कर फंसे राहुल

    अरुण जेटली के बयान पर सदन शांत हो गया लेकिन कुछ ही देर में राहुल ने विवाद को फिर हवा दे दिया।

    मुद्दे पर राहुल ने बड़े ही कलात्मक ढंग से ट्वीट किया। उन्होंने जेटली को जेटलाई ( झूठा) कहकर संबोधित किया और ट्वीटर पर लिखा कि ” प्यारे जेटलाई धन्यवाद यह बताने के लिए कि हमारे प्रधानमंत्री का आशय वो नहीं होता जो वो कहते है या जो हम समझते है उनका वो मतलब नहीं होता” अपने ट्वीट में उन्होंने हैसटैग बीजेपीलाइ का प्रयोग करते हुए मोदी के बयान का एक वीडियो भी शेयर किया।