Sun. Apr 21st, 2024
    सीआईए प्रमुख

    अमेरिका की केन्द्रीय खुफिया एजेंसी के प्रमुख माइक पोम्पियो ने कहा है कि रूस अमेरिका के साल 2018 में होने वाले आगामी मध्यावधि चुनाव में हस्तक्षेप कर सकता है। माइक ने कहा कि रूस ने अमेरिकी चुनावों में हस्तक्षेप करना नहीं रोका है।

    पूरी संभावना है कि साल 2018 में अमेरिकी चुनावों में एक बार फिर से रूस हस्तक्षेप कर सकता है। सीआईए अमेरिकी की शीर्ष गुप्तचर एजेंसी है। सीआईए प्रमुख का रूस के प्रति आशंका जताना अमेरिका व रूस के रिश्तों में कमजोरी ला सकता है।

    इंटरव्यू में माइक ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि वे(रूस) हस्तक्षेप की कोशिश करते रहेंगे लेकिन मुझे विश्वास है कि अमेरिका एक नि: स्वार्थ और निष्पक्ष चुनाव कर पाएगा। मैंने उनकी गतिविधियों में कोई महत्वपूर्ण कमी नहीं देखी है। हम पूरी कोशिश करेंगे की अमेरिकी चुनावों पर उनका प्रभाव ना पड़े।

    गौरतलब है कि साल 2016 में अमेरिकी की खुफिया एजेंसी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के ऊपर अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावो में दखल देने व हिलेरी क्लिंटन के चुनाव अभियान को कमजोर का आरोप लगाया था। साथ ही डोनाल्ड ट्रम्प की जीत की संभावनाओं को बढाने का भी रूस पर आरोप है। ट्रम्प प्रशासन कई बार इन आरोपों को सिरे से खारिज कर चुका है।

    रूस के ऊपर सोशल मीडिया व हैकिंग के जरिए हिलेरी के ईमेल व महत्वपूर्ण दस्तावेजों को लेने के आरोप लगे थे। वर्ष 2018 के मध्य अवधि चुनावों में प्रतिनिधि सभा के सभी 435 सदस्य और 33 सेनेटर हिस्सा लेंगे।

    गौरतलब है कि रूस व अमेरिका के बीच में संबंध मधुर नहीं है। उत्तर कोरिया मुद्दे को लेकर भी अमेरिका व रूस के विचार अलग-अलग है। दोनों देश एक-दूसरे को प्रतिस्पर्धी मानते है।