Sun. Apr 21st, 2024
    अनिल-अम्बानी-आरकॉम

    अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस कम्युनिकेशन पहले से ही कर्ज में डूबी हुई है, और अब एक चीन बैंक ने कंपनी द्वारा कर्ज ना चुकाने पर उसके खिलाफ दिवालिया होने का केस ठोक दिया है।

    आपको बता दें कि आरकॉम ने चीनी बैंक चाइना डेवलपमेंट बैंक से करीबन 13 हजार करोड़ रूपए का कर्ज लिया हुआ है। चीनी बैंक ने अब रिलायंस कम्युनिकेशन पर के खिलाफ मुंबई स्थित नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) में दिवालिया होने का केस दर्ज कराया है। ( पूरी खबर : चीनी बैंक द्वारा ठोके गए केस पर आरकॉम ने दी सफाई, शेयर 9% तक गिरे )

    इसके बाद कंपनी के ऊपर कई तरह के सवाल खड़े हो गए हैं। आरकॉम के खिलाफ अन्य कई कंपनियों ने कर्ज ना चुकाए जाने पर केस दर्ज करवाया है। आज शेयर बाजार खुलते ही कंपनी के शेयर लगभग 9 फीसदी तक नीचे गिर गए थे।

    अब यह देखना होगा कि कंपनी को बचाने के लिए अनिल अम्बानी क्या करते हैं?

    आरकॉम स्पेक्ट्रम खरीदने में जियो ने दिखाई रूचि

    द इकोनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक रिलायंस जियो आरकॉम के 850 मेगाहट्र्ज बैंड के सात सर्किलों के 4जी स्पेक्ट्रम को खरीद सकता है। आरकॉम को यह स्पेक्ट्रम सिस्टेमा श्याम टेलीसर्विसेज (एसएसटीएल) के साथ विलय के दौरान मिला था।

    क्षेत्रीय विशेषज्ञों से मिली जानकारी के अनुसार, रिलायंस जियो दिल्ली, कोलकाता, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, यूपी-पश्चिम और पश्चिम बंगाल में सिस्टेमा श्याम के स्पेक्ट्रम को खरीदने में बड़ी रूचि दिखा रहा है, जो कि वित्तीय वर्ष 2033 तक वैध है।

    अभी पिछले हफ्ते भारती एयरटेल ने कहा था कि वह रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) के कुछ उपकरणों तथा स्पेक्ट्रम को खरीद सकता है, हालांकि उसके बाद इस मामले अभी तक कोई भी बयान सामने नहीं आया है। फिलहाल लैंडर्स 45,000 करोड़ रुपये के कर्ज के कुछ हिस्सों को चुकाने के लिए आरकॉम संपत्तियों को बेचने की प्रक्रिया में हैं।