सोमवार, अक्टूबर 21, 2019

सामान्य से अधिक हो सकता है खरीफ फसलों का रकबा : सचिव (लीड-1)

Must Read

बिहार : स्नान करने गई 3 बच्चियों की डूबने से मौत

दरभंगा, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। बिहार के दरभंगा जिले के बिरौल थाना क्षेत्र में सोमवार को कमला नदी में स्नान...

रांची टेस्ट : जीत की हैट्रिक की ओर बढ़ता भारत (लीड-1)

रांची, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत का दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज को 3-0 से हथियाना का...

एंड्रयू मैक्डोनाल्ड बने राजस्थान रॉयल्स के कोच

मुंबई, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पहले सीजन का खिताब अपने नाम करने वाली राजस्थान रॉयल्स...
नई दिल्ली, 20 सितम्बर (आईएएनएस)। केंद्रीय कृषि सहकारिता एवं किसान कल्याण सचिव संजय अग्रवाल ने शुक्रवार को कहा कि मानसून सीजन के आरंभ में खरीफ फसलों की बुवाई का रकबा कम था, लेकिन बाद में यह 1,054 लाख हेक्टेयर हो गया है और उम्मीद है कि यह सामान्य रकबे को पार कर जाएगा।

मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान के अनुसार, अग्रवाल ने यह बात राष्ट्रीय कृषि सम्मेलन-रबी अभियान 2019 में अपने संबोधन में कही।

देशभर में खरीफ फसलों की बुवाई का कुल रकबा पिछले साल के करीब हो चुका है। मानसून सीजन के दौरान अच्छी बारिश होने से हाल के दिनों में फसलों की बुवाई का क्षेत्र बढ़ा है, जिससे देशभर में खरीफ फसलों का कुल रकबा 1,054.13 लाख हेक्टेयर हो गया है, जोकि पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले महज 1.68 लाख हेक्टेयर कम है। हालांकि धान का रकबा पिछले साल के मुकाबले 5.25 लाख हेक्टेयर घट गया है।

केंद्रीय कृषि मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी खरीफ फसलों की बुवाई के आंकड़ों के अनुसार, खरीफ सीजन की सबसे प्रमुख फसल धान का रकबा 378.62 लाख हेक्टेयर में है, जबकि पिछले साल किसानों ने धान की फसल 383.86 लाख हेक्टेयर भूमि में लगाई थी।

दलहनों की फसलों का रकबा भी पिछले साल से 2.41 लाख हेक्टेयर कम है। पूरे देश में सभी दलहन फसलों का रकबा 132.99 लाख हेक्टेयर है, जबकि पिछले साल 135.41 लाख हेक्टेयर था। दलहन फसलों में मूंग का रकबा सबसे ज्यादा 3.11 लाख हेक्टेयर घट गया है। पिछले साल जहां किसानों ने खरीफ सीजन में मूंग की फसल 34.10 लाख हेक्टेयर में लगाई थी, वहीं इस साल इसका रकबा 30.99 लाख हेक्टेयर दर्ज किया गया है।

हालांकि मोटे अनाजों का रकबा पिछले साल से 3.10 लाख हेक्टेयर बढ़कर 178.12 लाख हेक्टेयर हो गया है। मोटे अनाजों में मक्के का रकबा चालू खरीफ बुवाई सीजन में 80.72 लाख हेक्टेयर है, जबकि पिछले साल इस अवधि में मक्के की खेती 175.02 लाख हेक्टेयर में हुई थी।

तिलहन फसलों का रकबा 178.04 लाख हेक्टेयर हो गया है, जोकि पिछले साल की समान अवधि के 178.17 लाख हेक्टेयर के करीब है। तिलहन फसलों में मूंगफली का रकबा पिछले साल से 1.07 लाख हेक्टेयर घटकर 39 लाख हेक्टेयर रह गया है।

वहीं, कपास का रकबा पिछले साल से 6.45 लाख हेक्टेयर बढ़कर 127.09 लाख हेक्टेयर हो गया है, लेकिन गóो का रकबा पिछले साल से 3.06 लाख हेक्टेयर घटकर 52.45 लाख हेक्टेयर रह गया है।

मौसम विज्ञान विभाग के आंकड़ों के अनुसार, बीते सप्ताह देशभर में औसत से 38 फीसदी ज्यादा बारिश हुई। वहीं, पूरे मानसून सीजन के दौरान एक जून से 18 सितंबर तक देशभर में औसत से पांच फीसदी अधिक बारिश हुई है।

–आईएएनएस

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

बिहार : स्नान करने गई 3 बच्चियों की डूबने से मौत

दरभंगा, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। बिहार के दरभंगा जिले के बिरौल थाना क्षेत्र में सोमवार को कमला नदी में स्नान...

रांची टेस्ट : जीत की हैट्रिक की ओर बढ़ता भारत (लीड-1)

रांची, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। भारत का दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीन मैचों की सीरीज को 3-0 से हथियाना का इरादा हकीकत के पास पहुंचता...

एंड्रयू मैक्डोनाल्ड बने राजस्थान रॉयल्स के कोच

मुंबई, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के पहले सीजन का खिताब अपने नाम करने वाली राजस्थान रॉयल्स ने आस्ट्रेलिया के एंड्रयू बैरी...

इंदौर के होटल में आग, 6 लोग सुरक्षित निकाले गए

इंदौर, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। मध्य प्रदेश की व्यापारिक नगरी इंदौर के विजयनगर क्षेत्र में स्थित गोल्डन गेट होटल में सोमवार की सुबह अचानक आग...

राजस्थान : मांडवा व खींवसर सीट पर दोपहर से पहले 25 फीसदी से अधिक मतदान

जयपुर, 21 अक्टूबर (आईएएनएस)। राजस्थान के विधानसभा उपचुनाव में मांडवा सीट पर सोमवार पूर्वाह्न् 11:30 बजे तक 26.97 फीसदी मतदान हुआ। वहीं इस समय...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -