सफाईगीरी अवार्ड्स में बोले योगी, ‘ए’भाजपा फॉर आदित्यनाथ ही हो सकता है अखिलेश नहीं

योगी आदित्यनाथ
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

आज उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में न्यूज़ चैनल “आज तक” की ओर से सफाईगीरी अवार्ड्स का आयोजन किया गया है। इस कार्यक्रम में प्रदेश के विभिन्न ज्वलंत मुद्दों पर राज्य सरकार के हुक्मरानों और सत्तासीन लोगों से बात कर उनकी राय जानी जा रही है। कार्यक्रम के अंत में सफाईगीरी अवार्ड्स भी दिए जाएंगे। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा और प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष ह्रदय नारायण दीक्षित ने विभिन्न मुद्दों पर अपनी-अपनी राय रखी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने “योगी का साफ़ सुथरा यूपी” सेशन के तहत अपने कार्यकाल के 5 महीनों का ब्यौरा दिया और विभिन्न मुद्दों पर सरकार की प्रगति बताई। उन्होंने कहा कि ए फॉर अखिलेश नहीं आदित्यनाथ ही हो सकता है। अखिलेश यादव तो केवल ट्विटर पर दिखाई देते हैं।

प्रदेश की सफाई के लिए संभाली है सत्ता

मयख़्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सम्बोधन के दौरान कहा कि भाजपा सरकार प्रदेश की सफाई के लिए ही आई है। उन्होंने कहा कि जबसे हम सत्ता में आए हैं हमने काम ही किया है। हम जितना काम करते हैं सिर्फ उतना ही बोलते हैं। उन्होंने कहा कि सत्ता में आने के बाद हमने भ्रष्टाचारियों और अपराधियों की सफाई की है और आने वाले साल में उत्तर प्रदेश के कई शहरों का नाम देश के सबसे साफ शहरों की सूची में होगा। प्रदेश में सडकों की हालत पर उन्होंने कहा कि आप 15 साल के गड्ढों को 100 दिन में भरना चाहते हैं। हमने प्रदेश की सड़कों को गड्ढामुक्त बनाने का काम किया है और इस काम में अभी भी जुटे हुए हैं। यह भ्रष्टाचार के गड्ढे हैं। थोड़ा वक्त दीजिए सरकार इन्हें भी भर देगी।

गोरखपुर हादसे पर बोले योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर के हादसे का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि मैंने कभी भी जापानी बुखार के मामले पर अपना बचाव नहीं किया। इसकी रोकथाम के लिए पिछले 5 महीनों में 92 लाख बच्चों का टीकाकरण किया गया है। प्रदेश की मौजूदा सरकार ने पिछले 5 महीनों में हालातों को सुधारने के लिए सार्थक प्रयास किए हैं और इस वजह से जापानी बुखार से होने वाली मौतों के आंकड़ें में कमी भी आई है। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि वर्ष 2015 के अगस्त में जापानी बुखार की वजह से 667 बच्चों की मौत हुई थी। 2016 में यह संख्या 585 थी और वर्ष 2017 में यह घटकर 325 पर आ गई। सरकार का लक्ष्य है कि एक भी मौतें ना हो। अस्पताल में ऑक्सीजन सप्लाई नहीं रोकी गई थी। ऐसे संवेदनशील मुद्दे पर सनसनी फैलाना उचित नहीं है।

अखिलेश पर साधा निशाना

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने सम्बोधन के दौरान सूबे के पूर्व मुखिया और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर भी निशाना साधा। उन्होंने अखिलेश यादव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कही गई बात का भी जिक्र किया जिसमें प्रधानमंत्री ने कहा था कि अखिलेश यादव ने काम नहीं कारनामे किए हैं। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव ने कई कामों का आधी-अधूरी हालत में ही उद्घाटन कर दिया और इस काम में उन्हें महारथ हासिल है। योगी का इशारा लखनऊ मेट्रो की तरफ था जिसका उद्घाटन अखिलेश यादव ने अपने कार्यकाल में ही कर दिया था। उन्होंने अखिलेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि पूर्ववर्ती सपा सरकार ने हर क्षेत्र में प्रदेश के लोगों को गुमराह किया है।