गुरूवार, नवम्बर 14, 2019

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर 20 साल पुराना हत्या का मामला खारिज

Must Read

कुलभूषण मामले में भारत से कोई डील नहीं : पाकिस्तान

इस्लामाबाद, 14 नवंबर (आईएएनएस)। पाकिस्तान ने गुरुवार को इस बात से स्पष्ट रूप से इनकार किया है कि भारतीय...

प्रख्यात गणितज्ञ को मिल न पाया उचित सम्मान (स्मृतिशेष : डॉ़ वशिष्ठ नारायण)

पटना, 14 नवंबर (आईएएनएस)। शिक्षा के क्षेत्र में देश और दुनिया में बिहार का नाम रौशन करने वाले प्रख्यात...

उप्र : बिना हेलमेट 17 बाइक सवार घायल

बांदा, 14 नवंबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में पिछले 24 घंटों के दरम्यान अलग-अलग सड़क हादसों में...
पंकज सिंह चौहान
पंकज दा इंडियन वायर के मुख्य संपादक हैं। वे राजनीति, व्यापार समेत कई क्षेत्रों के बारे में लिखते हैं।

लखनऊ, 17 जुलाई (आईएएनएस)| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सांसद-विधायक कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। अदालत में पुलिस कांस्टेबल सत्यप्रकाश यादव की हत्या का मामला खारिज कर दिया गया है। इसके साथ अदालत ने योगी आदित्यनाथ की ओर उनके विपक्षी तलज अजीज पर कराए गए क्रास केस के तहत मुकदमा चलाने की मांग भी खारिज कर दी है। इस मामले में सीजेएम महराजगंज ने पहले ही परिवाद खारिज कर दिया था। दोनों पक्षों ने सीजीएम के फैसले के खिलाफ याचिका दाखिल की थी।

याचिका खारिज करते हुए विशेष अदालत के न्यायाधीश पवन तिवारी ने कहा, “सीजेएम महराजगंज का आदेश विधि, तथ्यों एवं प्रक्रिया के तहत सही है, इसमें कोई त्रुटि नहीं है।”

इससे पूर्व न्यायालय में दोनों पक्षों के वकीलों ने कहा कि उन्होंने एक-दूसरे के खिलाफ गलतफहमी में मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस जांच में मामला झूठा पाया गया। इसलिए निगरानी का निस्तारण कर दिया गया।

ज्ञात हो कि 20 साल पुराने इस मामले में योगी आदित्यनाथ के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया था। सीबीसीआईडी ने इस मामले में फाइनल रिपोर्ट पहले ही दे दी थी, फाइनल रिपोर्ट को पिछले साल सीजेएम कोर्ट ने भी सही माना था। उसके बाद सीजेएम के आदेश को प्रयागराज की विशेष सांसद-विधायक अदालत में चुनौती दी गई थी। विशेष अदालत ने भी सीजेएम के आदेश को सही मानते हुए याचिका खारिज कर दी।

गौरतलब है कि 11 फरवरी 1999 में महराजगंज में कब्रिस्तान की एक जमीन को लेकर योगी आदित्यनाथ और तलज अजीज के बीच विवाद हुआ था। विवादित स्थल पर पेड़ लगाए गये थे, जिसे दूसरे पक्ष ने कब्रिस्तान की जमीन बताते हुए अपना दावा ठोंक दिया। इसी मामले को लेकर तलज अजीज की एक जनसभा हो रही थी। उस दौरान योगी का काफिला वहां से गुजरा और दोनों पक्षों के समर्थकों में मार-पीट हो गयी। दोनों ओर से गोलियां भी चली जिसमें तलज अजीज के गनर सत्यप्रकाश यादव की मौत हो गयी थी।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

कुलभूषण मामले में भारत से कोई डील नहीं : पाकिस्तान

इस्लामाबाद, 14 नवंबर (आईएएनएस)। पाकिस्तान ने गुरुवार को इस बात से स्पष्ट रूप से इनकार किया है कि भारतीय...

प्रख्यात गणितज्ञ को मिल न पाया उचित सम्मान (स्मृतिशेष : डॉ़ वशिष्ठ नारायण)

पटना, 14 नवंबर (आईएएनएस)। शिक्षा के क्षेत्र में देश और दुनिया में बिहार का नाम रौशन करने वाले प्रख्यात गणितज्ञ डॉ़ वशिष्ठ नारायण सिंह...

उप्र : बिना हेलमेट 17 बाइक सवार घायल

बांदा, 14 नवंबर (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में पिछले 24 घंटों के दरम्यान अलग-अलग सड़क हादसों में 17 बाइक सवार घायल हो...

आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलेंगे गौतम

नई दिल्ली, 14 नवंबर (आईएएनएस)। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) फ्रेंचाइजी किंग्स इलेवन पंजाब ने लीग के आगामी सीजन के लिए हरफनमौला खिलाड़ी कृष्णप्पा गौतम...

इंदौर टेस्ट : भारत ने बांग्लादेश को 150 रन पर समेटा

इंदौर, 14 नवंबर (आईएएनएस)। भारतीय गेंदबाजों ने यहां होल्कर स्टेडियम में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच के पहले दिन गुरुवार को बांग्लादेश की...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -