महिंद्रा एंड महिंद्रा का प्रॉफिट 23 फीसदी बढ़ा, शेयरों में तेजी

महिंद्रा एंड महिंद्रा

महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयरों में पिछले एक साल में 32% की बढ़त देखनें को मिली है। कंपनी नें हाल ही में पिछली तिमाही के मुनाफे और कमाई की घोषणा की।

कंपनी की कमाई और मुनाफ़ा दोनों ही बड़ी तेजी से बढे हैं। जून तक ख़त्म हुई तिमाही में कंपनी की कुल कमाई 23% बढ़ी और कुल मुनाफे में 67% का इजाफा हुआ है।

प्रॉफिट में इस तेजी के कई कारण है, जिनमें ज्यादा गाड़ियों का बनना, खर्चे में कमी होना आदि शामिल हैं। कंपनी का ट्रेक्टर का व्यवसाय सबसे फायदेमंद रहा है।

इन सब कारणों से कंपनी के शेयरों में काफी बढ़त देखने को मिली है। निवेशक लगातार कंपनी में भरोसा करते दिख रहे हैं।

अब हालाँकि निवेशकों को यह पूछना चाहिए कि क्या यह तेजी बरक़रार रहेगी या आने वाले समय में सतर्क रहने की जरूरत है।

महिंद्रा एंड महिंद्रा के लिए सबसे फायदेमंद चीज यह रही है कि कंपनी बड़ी मात्रा में वाहनों का निर्माण कर रही है।

पिछले साल जब सरकार नें जीएसटी लागू किया था, उसकी वजह से कंपनी को कुछ मंदी झेलनी पड़ी थी। लेकिन उसके तुरंत बाद कंपनी के निर्माण में तेजी आई और शेयरों पर भी इसका असर देखने को मिला।

अब हालाँकि यह देखना होगा कि कंपनी निर्माण कार्य को किस प्रकार बरक़रार रख पाती है।

कंपनी के लिए एक बड़ी मुसीबत यह हो सकती है कि हाल ही में कच्चे माल और ब्याज दरों में बढौतरी हुई है। ऐसे में इनपुट खर्चे में बढौतरी देखने को मिल सकती है, जिस कारण मुनाफे में गिरावट देखने को मिल सकती है।

इसके अलावा लोगों के लिए वाहनों का फाइनेंस कराना भी महंगा होता जा रहा है। ऐसे में यदि मानसून में बारिश अच्छी नहीं आती है, तो कंपनी के वाहनों की डिमांड गिर सकती है।

ऐसे में कंपनी को महंगाई को झेलते हुए यदि अपने निर्माण क्षमता को बरक़रार रखना है, तो कंपनी को ज्यादा खर्चा करना पड़ेगा, जिसकी वहज से प्रॉफिट कम होगा। इसी कारण से निवेशकों को थोड़ा सतर्क रहने की जरूरत है।

महिंद्रा ट्रेक्टर है अच्छी खबर

कंपनी के लिए वर्तमान में एक अच्छी खबर यह है कि ट्रेक्टर की डिमांड काफी बढ़ रही है। सिर्फ जुलाई में ही ट्रेक्टर निर्माण में कंपनी नें 20 फीसदी की वृद्धि की है।

ट्रेक्टर की बढ़ती डिमांड का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि अन्य ट्रेक्टर निर्माता एक्स्कोर्ट नें भी अपने ट्रेक्टर निर्माण में वृद्धि की है।

रिलायंस सिक्यूरिटी के वाईस-प्रेसिडेंट मितुल शाह का कहना है कि कंपनी के शेयरों में बढौतरी का एक मुख्य कारण ट्रेक्टर का निर्माण और डिमांड है।

यदि कंपनी को शेयरों में उछाल देखते रहना है तो कंपनी के अन्य वाहनों में भी अच्छा प्रदर्शन देखना होगा। शाह नें बताया कि कंपनी की जो अंतिम सफल गाड़ी थी, वह थी XUV5OO. इसके बाद लगभग हर वाहन का लांच कंपनी के लिए अच्छा नहीं गया है, जिसकी वजह से महिंद्रा नें इस क्षेत्र में बहुत हद तक मार्किट शेयर गँवा दिया है।

इससे उबरने के लिए महिंद्रा नें इस साल के त्यौहार सीजन में कई वाहन निकालने की बात कही है। यह कयास लगाये जा रहे हैं, कि आने वाले वाहन कंपनी के वर्तमान ट्रेक्टर व्यवसाय की तरह ही सफल हों।

कंपनी के करीबी लोगों का कहना है कि यदि जल्द ही महिंद्रा का कोई वाहन अच्छी खबर नहीं देता है, तो कंपनी के लिए तेजी बरक़रार रखना मुश्किल हो जाएगा।

जाहिर है मानसून के बाद ट्रेक्टर की डिमांड भी बहुत कम हो जायेगी। ऐसे में कंपनी को निवेशकों में विश्वास बनाए रखने के लिए कुछ जल्द करना होगा।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here