रविवार, दिसम्बर 8, 2019

मप्र : शिवपुरी में स्वच्छ भारत मिशन का शौचालय ढहा, 2 आदिवासी बच्चों की मौत

Must Read

अमेरिकी राजनयिकों पर चीन ने उठाया जवाबी कदम

अमेरिका द्वारा चीनी राजनयिकों पर लगाए गए प्रतिबंध के मद्देनजर चीन ने जवाबी कदम उठाते हुए अमेरिकी राजनयिकों पर...

जीएसटी परामर्श दिवस पर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने सुझाव मांगे

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के लिए रिटर्न फाइलिंग प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए...

हॉकी : भारतीय महिला जूनियर टीम ने न्यूजीलैंड को 4-1 से हराया

भारतीय महिला जूनियर हॉकी टीम ने यहां जारी तीन देशों के हॉकी टूर्नामेंट में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते...
भोपाल, 12 नवंबर (आईएएनएस)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालय के ढह जाने से मलबे में दो आदिवासी बच्चे दब गए, और उनकी मौत हो गई। शौचालय के निर्माण में हुई गड़बड़ी की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति बनाई गई है।

मामला मध्य प्रदेश के शिवपुरी जिले का है। यहां की वेसी ग्राम पंचायत के राठखेड़ा गांव में वर्ष 2013 में स्वच्छ भारत मिशन के तहत आदिवासियों के घरों में शौचालयों का निर्माण किया गया था। सोमवार शाम यहां दो बच्चे राजा आदिवासी (सात) और प्रिंस आदिवासी (छह) खेल रहे थे, तभी शौचालय की दीवार ढह गई और उसके मलबे में दोनों बच्चे आ गए और उनकी मौत हो गई।

कागजों में ओडीएफ हो चुके इस गांव के कोटवार रामसिंह ने बताया कि गांव में जो शौचालय बनाए गए हैं, वे आधे-अधूरे हैं, और उपयोग लायक नहीं हैं, लिहाजा गांव वाले तो बाहर शौच करने जाते हैं।

गांव के भीम आदिवासी ने बताया, गांव में आदिवासी परिवारों के लिए बनाए गए अधिकतर शौचालयों का निर्माण घटिया हुआ है और गांव वाले इनका उपयोग ही नहीं करते हैं।

गांव के हीरालाल आदिवासी के अनुसार, गांव के अधिकतर शौचालयों की स्थिति खराब है। दोबारा से हमने शौचालय बनवाने की मांग की तो कहा गया कि एक बार बन गए, अब दोबारा नहीं बनेंगे।

गांव के सहायक सचिव शशिकांत धाकड़ का कहना है, जो शौचालय ढहा है, वह उनके कार्यकाल का नहीं है। उसने तो इसी साल यहां पर चार्ज संभाला है।

पोहरी से कांग्रेस विधायक सुरेश राठखेड़ा इसी राठखेड़ा गांव के निवासी हैं। जब विधायक से यहां पर शौचालय निर्माण को लेकर पूछा गया तो उन्होंने आरोप लगाया, यहां पर 15 साल भाजपा की सरकार रही, उनके ही विधायक इस क्षेत्र से रहे। अब उनकी सरकार आई है और वह इस भ्रष्टाचार की जांच के लिए अधिकारियों से कहेंगे, ताकि दोषियों पर कार्रवाई हो सके।

विधायक ने मृतक बच्चों के परिजनों को आर्थिक सहायत दिलाए जाने की बात भी कही।

पोहरी विधायक सुरेश राठखेड़ा के गांव में घटिया शौचालय ढहने से दो बच्चों की हुई मौत के बाद अब जिला प्रशासन के आला अधिकारी बचाव की मुद्रा में हैं। पोहरी जनपद पंचायत के सीईओ अरविंद शर्मा ने इस मामले में कुछ भी बोलने से इंकार कर दिया। वहीं जिला पंचायत के सीईओ एच.पी. वर्मा नें कहा है, इस गांव में शौचालय निर्माण की जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित कर दी गई है। जांच के बाद जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

— आईएएनएस

- Advertisement -
- Advertisement -

Latest News

अमेरिकी राजनयिकों पर चीन ने उठाया जवाबी कदम

अमेरिका द्वारा चीनी राजनयिकों पर लगाए गए प्रतिबंध के मद्देनजर चीन ने जवाबी कदम उठाते हुए अमेरिकी राजनयिकों पर...

जीएसटी परामर्श दिवस पर वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने सुझाव मांगे

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के लिए रिटर्न फाइलिंग प्रक्रिया को सरल बनाने के लिए सुझाव आमंत्रित किए हैं। केंद्र...

हॉकी : भारतीय महिला जूनियर टीम ने न्यूजीलैंड को 4-1 से हराया

भारतीय महिला जूनियर हॉकी टीम ने यहां जारी तीन देशों के हॉकी टूर्नामेंट में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए शनिवार को न्यूजीलैंड को...

दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए इंग्लैंड की टेस्ट टीम में लौटे जेम्स एंडरसन और मार्क वुड

इसी महीने होने वाले दक्षिण अफ्रीका दौरे के लिए जेम्स एंडरसन इंग्लैंड की टेस्ट टीम में वापसी हुई है। एंडरसन एशेज सीरीज के पहले...

मायावती ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मिलकर महिला सुरक्षा पर कड़े कदम उठाने की अपील

उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मौत के बाद उत्तर प्रदेश के विपक्षी दलों ने सड़क पर उतर कर सरकार के खिलाफ मोर्चेबंदी की। सपा, कांग्रेस...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -