मनोज तिवारी उद्घाटन समारोह देखने के लिए आमंत्रित थे, नौटंकी करने के लिए नहीं: मनीष सिसोदिया

मनीष सिसोदिया

आम आदमी पार्टी ने सिग्नेचर ब्रिज उदघाटन समारोह में हुए विवाद के लिए दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी के गिरफ्तारी की मांग की है। दिल्ली पुलिस को अगल अगल पार्टियों की तरफ से कुल 8 शिकायतें मिली है।

पूर्वोत्तर दिल्ली के डीसीपी ने कहा है कि अब तक इस मामले में कोई एफआईआर दर्ज नहीं की गई है। पुलिस ने कहा है कि वो सभी आरोपों की सत्यता की जांच कर रही है उसके बाद ही किसी नतीजे पर पहुँच पाएगी। इधर आम आदमी पार्टी ने दिल्ली पुलिस पर मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की सुरक्ष की अनदेखी करने का भी आरोप लगाया।

मनोज तिवारी ने मुख्य स्टेज पर जबरदस्ती चढ़ने की कोशिश की जिसके कारण समारोह स्थल पर अफरा तफरी का माहौल बन गया।  बाद में तिवारी ने आप विधायक अमानतुल्लाह खान पर खुद के साथ बदसुलूकी करने का रूप लगाया।

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने मिडिया को बताया कि हर दिल्लीवासी की तरह मनोज तिवारी भी उद्घाटन समारोह में आने के लिए आमंत्रित थे। बकौल सिसोदिया ‘मैंने उन्हें काले झंडे ले कर आने को नहीं कहा था। मैंने ट्विटर पर जिस तरह सभी दिल्ली वालों को इस ऐतिहासिक पल का हिस्सा बनने को आमंत्रित किया था उसी प्रकार मनोज तिवारी को भी किया था लेकिन उन्हें यहाँ आ कर ड्रामा करने की अनुमति नहीं थी।’

गौरतलब है कि मनोज तिवारी ने आरोप लगाया था कि उन्हें उद्घाटन समारोह में नहीं बुलाया गया था लेकिन क्षेत्र के सांसद होने के नाते वो वहां पहुंचे जिसपर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं ने उनके साथ बदसुलूकी की। तिवारी ने पुलिस पर भी बदसुलूकी करने का रूप लगाया।

तिवारी ने कल पुलिस को 4 दिनों में सबक सिखाने की धमकी भी दी थी।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here