सोमवार, अप्रैल 6, 2020

भारत, जापान और अमेरिका के एकजुट होने पर चीन की टिपण्णी

Must Read

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए।...
कविता
कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

भारत, जापान और अमेरिका ने मिलकर इंडो पैसिफिक की रक्षा के लिए ‘जय’ का गठन किया था। इस गठन जी 20 के सम्मेलन के इतर किया गया था। चीन ने कहा कि यह अच्छा सेट अप है, यदि यह क्षेत्रीय शांति में खलल नहीं डालता है।भारत के प्रधानमन्त्री नरेन्द्र मोदी, जापानी प्रधानमंत्री शिंजो आबे और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने चीन के बढ़ते प्रभुत्व पर विराम लगाने के लिए जय का गठन किया था।

यह तीनो सदस्य क्वैड या चतुर्थ के भी सदस्य हैं, जिनका चौथा साझेदार ऑस्ट्रेलिया है। चीन की बढ़ते प्रभुत्व वाले इंडो पैसिफिक इलाके को तीनो राष्ट्रों के नेताओं ने मुक्त और सम्मिलित बनाने की अपील की थी।

विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा था कि तीनों राष्ट्र इंडो पैसिफिक इलाके के खुले, मुक्त और शांति एवं समृद्धि के लिए रज़ामंद हैं। विदेश सचिव ने कहा कि यह बैठक अच्छी रही थी। तीनों राष्ट्रों के प्रमुखों ने भारत मे सुधार और विकास कार्य को अमल में लाने की प्रतिबद्धता जाहिर की थी।

इस बैठक के दौरान भारत ने इंडो-पैसिफिक इलाके का इस्तेमाल साझा आर्थिक वृद्धि के लिए करने की प्रतिबद्धता दिखाई थी। पीएम मोदी ने कहा था कि भारत साझा मूल्यों पर एकजुट होकर कार्य जारी रखेगा। उन्होंने कहा कि जापान, इंडिया और अमेरिका मिलकर ‘जय’ बनते है, जिसका हिंदी में अर्थ सफलता होता है।

चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने कहा कि चीन प्रासंगिक पार्टियों के साथ सामान्य सहयोग के लिए हमेशा तत्पर है। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि ऐसे योगदान भरोसा, क्षेत्रीय सहयोग बढ़ाएंगे और साथ ही क्षेत्रीय शांति और समृद्धि का प्रचार करने एक बेहतर किरदार निभाएंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि यह त्रिपक्षीय वार्ता तीनो राष्ट्रों के लिए एक बेहतरीन अवसर है, जो लोकतांत्रिक मूल्यों का निर्वाह करते हैं। उन्होंने कहा कि विश्व की शांति, समृद्धि और स्थिरता के लिए जापान, इंडिया और अमेरिका एक महत्वपूर्ण किरदार निभाएंगे।

उन्होंने कहा कि मैं बहुत खुश हूं कि भारत के दोनों रणनीतिक साझेदार हमारे बहुत अच्छे मित्र है। उन्होंने कहा कि यह हमारी अच्छी किस्मत है और हम साथ कार्य करेंगे।

- Advertisement -

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest News

दिल्ली में 68 वर्षीय महिला की कोरोनोवायरस से मृत्यु, भारत में अबतक दूसरी मृत्यु

देश में वैश्विक महामारी से जुड़ी दूसरी मौत में शुक्रवार को दिल्ली में 68 वर्षीय एक महिला की मौत...

एक विलेन 2: दिशा पटानी के बाद, तारा सुतारिया फिल्म से जुड़ी, जॉन अब्राहम और आदित्य रॉय कपूर भी होंगे फिल्म का हिस्सा

यह पहले बताया गया था कि जॉन अब्राहम 2014 की फिल्म, एक विलेन की अगली कड़ी बनाने के लिए बातचीत कर रहे थे। जनवरी...

‘बागी 3’ बॉक्स ऑफिस कलेक्शन: टाइगर श्रॉफ, श्रद्धा कपूर नें होली पर जमकर की कमाई

टाइगर श्रॉफ की बागी 3 (Baaghi 3) ने अपने शुरुआती सप्ताहांत में बॉक्स ऑफिस पर 53.83 करोड़ रुपये कमाए। 2 दिन में 16.03 करोड़...

महाराष्ट्र सरकार को कोई खतरा नहीं – कांग्रेस

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बुधवार शाम को अपने सभी विधायकों की बैठक बुलाई है। राकांपा नेताओं ने कहा कि 26 मार्च को होने...

पीएम मोदी, राहुल गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को उनके 78 वें जन्मदिन पर शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा,...
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -