Wed. Dec 7th, 2022
    sandeep chakravarty

    भारत के प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच गहरी दोस्ती ह्यूस्टन में आयोजित हाउडी मोदी कार्यक्रम के दौरान देखी गयी थी। न्यूयोर्क में भारत के वाणिज्य राजदूत संदीप चक्रवर्थी ने कहा कि डोनाल्ड ट्रम्प और नरेंद्र मोदी के बीच दो दिनों में दूसरी मुलाकात भारत-अमेरिका के संबंधों को नए आयामों पर ले जाएगी।

    मोदी-ट्रम्प की अटूट दोस्ती

    उन्होंने कहा कि “दोनों नेताओं के बीच बहेड अच्छा तालमेल है। वे फ़ोन पर बात करते हैं, सम्मेलन के इतर मुलाकात करते हैं, वे एक दिन पहले ही ह्यूस्टन में मिले थे। हमारी दोस्ती परवान चढ़ती जा रही है। वह अगले दो दिनों में दोबारा मुलाकात करने जा रहे हैं जो एक दूसरे के साथ दोस्ती और संबंधों के मूल्यों को दर्शाता है। वे इस रिश्ते को काफी आगे तक ले जायेंगे।”

    उन्होंने उम्मीद व्यक्त की है कि मोदी और ट्रम्प के बीच मुलाकात दोनों देशो के बीच व्यापार मामले को सुलझाने मके कारगार सिद्ध होंगे। चक्रवर्थी ने कहा कि “मौजूदा अमेरिकी प्रशासन का मुख्य फोकस व्यापार मुद्दे पर है। वे नए नजरिये से इस मामले को देख रहे हैं। अमेरिका-भारत के कारोबारी संबंधो का ग्राफ भी ऊपर की ओर बढ़ता जा रहा है।”

    उन्होंने भारत और अमेरिका की दोस्ती को विश्व की सबसे महत्वपूर्ण दोस्ती करार दिया है। संयुक्त तालमेल दोनों देशो के लिए काफी फायदेमंद होगा। चक्रवर्थी ने कहा कि “यह विश्व का सबसे महत्वपूर्ण द्विपक्षीय संबंध है। कई अमेरिकी नेताओं ने इसे स्वीकार किया है और इसका सार्वजानिक ऐलान भी किया है। भारत और अमेरिका के बीच साल 2000 में व्युँपार पांच अरब डॉलर था और आज यह 150 अरब डॉलर के करीब पंहुच गया है।”

    उन्होंने कहा कि “हाउडी मोदी कार्यक्रम ने दुनिया को एक उम्दा सन्देश भेजा है और उम्मीद है कि यह भारत और अमेरिका के संबंधों को नई ऊँचाइयों पर ले जायेंगी। यह सम्बन्ध हर क्षेत्र में बढ़ रहे हैं।”

    मोदी और ट्रम्प ने रविवार को ह्यूस्टन में आयोजित कार्यक्रम में संयुक्त संबोधन दिया था। पीएम मोदी ने आतंकवाद पर जमकर प्रहार किया था जिसकी चपेट में पाकिस्तान भी था। दोनों नेताओं ने आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होकर कार्रवाई करने का स्नाकल्प लिया है।

    By कविता

    कविता ने राजनीति विज्ञान में स्नातक और पत्रकारिता में डिप्लोमा किया है। वर्तमान में कविता द इंडियन वायर के लिए विदेशी मुद्दों से सम्बंधित लेख लिखती हैं।

    Leave a Reply

    Your email address will not be published. Required fields are marked *